Covid-19 Update

44,405
मामले (हिमाचल)
35,403
मरीज ठीक हुए
711
मौत
9,608,418
मामले (भारत)
66,501,425
मामले (दुनिया)

Modi Cabinet: 14 फसलों पर किसानों को लागत से 50 प्रतिशत ज्यादा मिलेगा, नौकरी के अवसर बढ़ेंगे

Modi Cabinet: 14 फसलों पर किसानों को लागत से 50 प्रतिशत ज्यादा मिलेगा, नौकरी के अवसर बढ़ेंगे

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश में जारी कोरोना संकट (Corona Crisis) के बीच केंद्र की मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का प्रथम वर्ष पूर्ण होने के बाद पहली कैबिनेट बैठक (Cabinet Meeting) का आयोजन किया गया है। पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में कई अहम् फैसले लिए गए। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक के बाद केंद्र सरकार की प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई, जिसमें कैबिनेट बैठक के दौरान लिए गए अहम् फैसलों के बारे में जानकारी दी गई।

यह भी पढ़ें: कोरोना संकट के बीच LPG Cylinder हुआ महंगा,अब चुकता करनी होगी इतनी ज्यादा कीमत

MSME को 20 हजार करोड़ लोन के प्रस्ताव को मंजूरी

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रकाश जावड़ेकर केंद्रीय मंत्री ने बताया कि MSME’s के लिए 50,000 करोड़ की इक्विटी का प्रस्ताव पहली बार आया है। MSME की परिभाषा को और संशोधित किया गया है। संकट में फंसे MSME को मदद दी जाएगी। MSME को 20 हजार करोड़ लोन के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है, जिससे नौकरी के बढ़ेंगे अवसर। कैबिनेट के फैसले से करोड़ों किसानों को लाभ होगा। उन्होंने आगे कहा कि शहरी और आवास मंत्रालय ने विशेष सूक्ष्म ऋण योजना शुरू की है। ये रेहड़ी-पटरी वालों की मदद के लिए योजना है। इस योजना से 50 लाख लोगों को लाभ मिलेगा। केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने आगे कहा कि शायद आजाद भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के रेहड़ी-पटरी वालों को लोन देने के लिए कोई योजना लाई गई है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ PGI ने विकसित की रैपिड टेस्टिंग किट: पांच सौ रुपए में जांच, आधे घंटे में Report

किसानों को लागत से 50 फीसदी से 83 फीसदी ज्यादा कीमत मिलेगी

उन्होंने आगे बताया कि सरकान ने किसानों के लिए बड़े फैसले किए हैं। न्यूनतम समर्थन मूल्य उसकी कुल लागत का डेढ़ गुना ज्यादा रखने का वादा सरकार पूरा कर रही है। 14 फसलों पर किसानों को लागत से 50 फीसदी से 83 फीसदी ज्यादा कीमत मिलेगी। खेती और उस जुड़े काम के लिए 3 लाख तक के अल्पकालिक कर्ज के भुगतान की तिथि 31 अगस्त 2020 तक बढ़ाई गई है। वायरस के संकट, लॉकडाउन के समय भी पीएम मोदी की प्राथमिकता में गरीब और किसान रहे। किसानों ने इस बार बंपर पैदावार करके देश को समर्पित किया है। केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर ने कहा कि प्रतिकूल समय में भी बंपर उत्पादन हुआ है। मक्का में 52 फीसदी बढ़ोतरी हुई है। गांव, किसान, गरीब को लेकर सरकार काम कर रही है। 93 लाख मिट्रिक टन धान अब तक खरीदा गया है।

कमजोर उद्योगों को उभारने के लिए 4 हजार करोड़ का फंड

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि देश में 6 करोड़ MSME हैं। MSME से देश में 11 करोड़ से ज्यादा नौकरी मिली है। 25 लाख MSME के पुर्नगठन की उम्मीद है। छोटे सेक्टर में टर्नओवर सीमा 50 करोड़ किया है। गडकरी ने कहा कि MSME अभी कठिन दौर से गुजर रहा है। 2 लाख MSME नए फंड से शुरू किए जाएंगे। कमजोर उद्योगों को उभारने के लिए 4 हजार करोड़ के फंड को मंजूरी मिली है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group…

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है