Covid-19 Update

20,040
मामले (हिमाचल)
17,113
मरीज ठीक हुए
280
मौत
7,810,114
मामले (भारत)
42,263,059
मामले (दुनिया)

Supreme Court @ निर्भया कांड: चारों दोषियों की फांसी की सजा बरकरार

Supreme Court @ निर्भया कांड: चारों दोषियों की फांसी की सजा बरकरार

- Advertisement -

Nirbhaya Case: नई दिल्ली। दिल्ली गैंगरेप मामले में चार दोषियों की अपील पर सुप्रीम कोर्ट ने हाईकोर्ट के फैसले पर मुहर लगाते हुए फांसी की सजा को बरकरार रखा है। फैसले के दौरान निर्भया के माता-पिता कोर्ट में मौजूद थे।  जजों के फैसला सुनाने के बाद कोर्ट में तालियां बजीं। कोर्ट ने फैसला सुनाते वक्त कहा, “निर्भयाकांड सदमे की सुनामी, जिस बर्बरता के साथ अपराध हुआ उसे माफ नहीं किया जा सकता।” चारों ने फांसी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी। जस्टिस दीपक मिश्रा की अगुआई वाली वाली बेंच ने फास्ट ट्रैक सुनवाई के बाद 27 मार्च को फैसला सुरक्षित रखा था।

Nirbhaya Case: पैरामेडिकल की छात्रा निर्भया के साथ दिल्ली में हुआ था गैंगरेप

बता दें कि 16 दिसंबर 2012 को 23 साल की पैरामेडिकल की छात्रा निर्भया के साथ दिल्ली में गैंगरेप हुआ था। इस मामले में सितंबर 2013 में 6 दोषियों के खिलाफ हाई कोर्ट ने मौत की सजा सुनाई गई थी, जिसे दिल्ली हाई कोर्ट ने 2014 में भी बरकरार रखा था।

 दोषी राम सिंह ने तिहाड़ जेल में लगाई थी फांसी

6 दोषियों में से एक दोषी राम सिंह ने तिहाड़ जेल के अंदर ही फांसी लगा ली थी। जबकि एक और दोषी नाबालिग होने के कारण अपनी तीन साल की सुधारगृह की सजा पूरी कर चुका है। आपको बता दें कि 27 मार्च को सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली पुलिस, एमिकस क्यूरी और दोषियों के वकीलों की दलील सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था। इसी बाबात आज जस्टिस दीपक मिश्रा, जस्टिस आर भानूमति और जस्टिस अशोक भूषण की बेंच फैसला सुनाएगी। सुप्रीम कोर्ट ये तय करेगा कि गैंगरेप के दोषियों को फांसी की सजा मिलेगी या नहीं।

निर्भया कांड के बाद पूरा देश था गुस्से में

देश और दुनिया ही नहीं 16 दिसंबर, 2012 को पूरी इंसानियत शर्मसार हुई थी। चलती बस में दरिंदों ने जो हरकत की थी उससे पूरा देश शर्मसार था। वहीं पूरा देश घटना के बाद उबल पड़ा। हर तरफ गुस्से था। सैलाब था। निर्भया की मौत के बाद पूरा देश एक आवाज बन गया था। निर्भया कांड सामने आने के चंद दिन बाद ही 21 दिसंबर को इंडिया गेट और रायसीना हिल पर प्रदर्शन हुआ। इसके साथ ही पूरे देश में प्रदर्शनों का दौर शुरू हुआ। 29 दिसंबर को निर्भया की मौत के बाद प्रदर्शन और तेज हो गए। उसी समय अन्ना आंदोलन से पैदा हुए राजनीतिक विक्षोभ ने भी निर्भया कांड और भी बल दिया। देशभर में हुए प्रदर्शनों से साफ हुआ कि देश की जनता बिना किसी राजनीतिक एजेंडे के भी सामाजिक बदलाव के लिए सड़क पर उतरती है।

16 दिसंबर को हुई थी बर्बरता

-16 दिसंबर 2012 को दिल्ली में चलती बस में निर्भया का सामूहिक बलात्कार किया गया था।
-18 दिसंबर, 2012 को राम सिंह, मुकेश, विनय शर्मा और पवन गुप्ता को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था।
21 दिसंबर को मामले में एक नाबालिग को दिल्ली से और छठे अभियुक्त अक्षय ठाकुर को बिहार से गिरफ्तार किया गया।
-29 दिसंबर, 2012 को इलाज के दौरान सिंगापुर के अस्पताल में निर्भया की मौत हो गई थी।
-3 जनवरी, 2013 को पुलिस ने पांच बालिग अभियुक्तों के खिलाफ हत्या, गैंगरेप, हत्या की कोशिश, अपहरण, डकैती आदि आरोपों के तहत चार्जशीट दाखिल की।

-17 जनवरी, 2013 को फास्ट ट्रैक अदालत ने पांचों अभियुक्तों पर आरोप तय हुए थे।
-11 मार्च 2013 को घटना के मुख्य आरोपी राम सिंह ने तिहाड़ जेल में आत्महत्या कर ली थी।
-31 अक्टूबर, 2013 में जुवेनाइल बोर्ड ने नाबालिग को गैंगरेप और हत्या का दोषी माना और उसे प्रोबेशन होम में तीन साल गुजारने का फैसला सुनाया था।
-10 सितंबर, 2013 को फास्ट ट्रैक अदालत ने चार अन्य आरोपियों  को 13 अपराधों के लिए दोषी ठहराया और 13 सितंबर को मुकेश, विनय, पवन और अक्षय को सजा-ए-मौत सुनाई थी। फैसले के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई।
-13 मार्च, 2014 को दिल्ली हाई कोर्ट ने दोषियों की मौत की सजा को बरकरार रखा था। इसके बाद दोषियों ने फांसी की सजा को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है जिस पर अदालत आज फैसला सुनाएगी।

खजाने का लालच देकर नाबालिग से किया Gangrape

- Advertisement -

loading...
Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Himachal: घर में ट्यूबवेल, बोरवेल और हैंडपंप लगाया है तो जरूर पढ़ें यह खबर

SCERT ऑनलाइन स्पर्धाः हिमाचल के इन 10 शिक्षकों की प्रविष्टियां रहीं अव्वल

सरकार के 'Diwali Bonus' में कर्मचारियों को कितना मिलेगा; गणित समझने के लिए पढ़ें पूरी खबर

कस्टमर केयर एग्जीक्यूटिव के लिए Interview कल धर्मशाला में

सीवर से बचाई थी Street Dog की जान, मौत पर मालिक ने निकाली शवयात्रा, तेरहवीं भी की

IBPS ने क्लर्क के 2557 पदों पर निकाली वैकेंसी: हिमाचल के खाते में कितनी सीटें; ब्योरा जान करें अप्लाई

डेट पर 23 दोस्तों के साथ पहुंची Girlfriend, बिल देखकर उड़े Boyfriend के होश, हुआ रफूचक्कर

#Corona Update: हिमाचल में आज 223 केस, 245 हुए ठीक- पांच की गई जान

Una से नई दिल्ली जनशताब्दी एक्सप्रेस के सफर को करना होगा इंतजार

श्री नैना देवी माता के दर्शनों को आएं तो Mask जरूर लगाएं, कहीं ढीली ना हो जाए जेब

सेना भर्ती की संयुक्त परीक्षा पहली नवंबर को, सुबह 3 बजे से मिलेंगे Admit Card

Shanta के बयान पर #BJP की घेराबंदी, कुलदीप राठौर ने कह दी यह बड़ी बात

कल किया था ABVP का समर्थन, आज NSUI का साथ निभाने HPU पहुंचे विक्रमादित्य सिंह

National Scholarship Portal पर छात्रवृति के लिए इन कक्षाओं के छात्र करें जल्द Online Apply

ऊना में Fake M Form बनाने वाले गिरोह का पर्दाफाश, Punjab का युवक भी किया Arrest

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board

#Himachal के इन स्कूलों में सर्दियों की छुट्टियों पर चलेगी कैंची, प्रस्ताव तैयार

जवाहर नवोदय विद्यालय कक्षा 6 का #Entrance_Exam अब 7 नवंबर को

स्कूलों के बाद अब Colleges खोलने की तैयारी, नवंबर से आएंगे Practical विषयों के छात्र

TET Exam में इन अभ्यर्थियों को मिली छूट, बिना आवेदन दे सकेंगे परीक्षा, बस करना होगा ये काम

#Himachal में School खोलने की तैयारी में सरकार, क्या रहेगा प्लान पढ़े यहां

Big Breaking: हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने टैट परीक्षा का शेड्यूल किया जारी- जानिए

#HPBose: 9वीं, 10वीं, 11वीं और 12वीं कक्षाओं के छात्रों को बड़ी राहत- पढ़ें खबर

हिमाचल में 100% मास्टर जी लौट आए #School, बनने लगा स्टूडेंट्स के लिए माइक्रो प्लान

SMC शिक्षकों को बड़ी राहत, #Supreme_Court ने हिमाचल हाईकोर्ट के फैसले पर लगाई रोक

गोविंद ठाकुर बोले- #Himachal में स्कूल खोलने हैं या नहीं, 9 को होगा फैसला

शिक्षा विभाग ने तैयार किया #Himachal में स्कूल खोलने का प्रस्ताव; जानें क्या है योजना

D.El.Ed CET 2020: 12 से 23 अक्टूबर तक होगी स्क्रीनिंग, अभ्यर्थी करें ऐसा

Himachal में 530 हेड मास्टर और लेक्चरर बने प्रिंसिपल, पर वेतन बढ़ोतरी को करना होगा इंतजार

बिग ब्रेकिंगः हिमाचल शिक्षा बोर्ड ने आठ विषयों की TET परीक्षा का Result किया आउट

#HPBose: बोर्ड ने छात्र हित में लिया फैसला, 30 तक बढ़ाई यह तिथि



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है