Covid-19 Update

34,346
मामले (हिमाचल)
26,777
मरीज ठीक हुए
528
मौत
9,140,312
मामले (भारत)
58,985,500
मामले (दुनिया)

#Diwali पर दिल्लीवालों ने जमकर की आतिशबाजी, हवा की हालत “गंभीर”

कई इलाकों में AQI 999 तक पहुंचा, हॉट स्पॉट एरिया में करवाई गई फॉगिंग

#Diwali पर दिल्लीवालों ने जमकर की आतिशबाजी, हवा की हालत “गंभीर”

- Advertisement -

नई दिल्ली। दिवाली की रात दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में सुप्रीम कोर्ट और एनजीटी के आदेश की बुरी तरह धज्जियां उड़ाई गईं। यहां पर खूब आतिशबाजी की गई जिसका नतीजा ये हुआ कि पहले से ही खराब दिल्ली की हवा गंभीर स्थिति में पहुंच गई है। दिवाली की रात हुई आतिशबाजी के चलते दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) गंभीर श्रेणी में जा पहुंचा। दिल्ली के कई इलाकों में एयर क्वालिटी इंडेक्स 999 तक पहुंच गया। प्रदूषण (Pollution) की स्थिति से निपटने के लिए उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने आधी रात में सदर बाजार इलाके में पानी का छिड़काव किया। नॉर्थ दिल्ली के मेयर जयप्रकाश हॉट स्पॉट एरिया में फॉगिंग कराते नजर आए ताकि बढ़े हुए प्रदूषण को कम किया जा सके।

दिल्ली में तड़के चार बजे दर्ज किए AQI में गंभीर स्थिति देखने को मिली। आनंद विहार में एयर क्वालिटी इंडेक्स 572, मंदिर मार्ग इलाके में 785, पंजाबी बाग में 544, द्वारका सेक्टर 18बी में 500, सोनिया विहार में 462, अमेरिकी दूतावास के आसपास 610, शहीद सुखदेव कॉलेज ऑफ बिजनेज स्टडीज के आसपास 999, जगांगीरपुरी में 773, सत्यवती कॉलेज में 818 और बवाना इलाके में 623 दर्ज किया गया। गौर हो कि पिछले हफ्ते कोरोना की समीक्षा बैठक के बाद दिल्ली सरकार ने 30 नवंबर तक पटाखे पर बैन लगाने का ऐलान किया था। बहरहाल, दिल्ली में कोरोना के मामले बढ़ गए हैं। दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अक्षरधाम मंदिर में दिवाली पूजन करने से पहले भी अपील की थी कि पटाखे न फोड़ें क्योंकि इससे प्रदूषण का स्तर बढ़ता है और इसकी वजह से कोरोना मरीजों के लिए दिक्कतें बढ़ जाती हैं। मगर एनजीटी की पाबंदी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अपील के बावजूद राष्ट्रीय राजधानी में आतिशाबाजी देखने को मिली और नतीजा ये हुआ कि पॉल्यूशन का स्तर गंभीर स्थिति में जा पहुंचा। दिल्ली में प्रदूषण के चलते धुंध नजर आ रही है।

 

नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने सोमवार को राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (NCR) में सभी प्रकार के पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल पर 9 नवंबर की मध्यरात्रि से 30 नवंबर की मध्य रात्रि तक रोक लगा दी थी। रोक लगाते हुए एनजीटी ने कहा था, ‘पटाखे उत्सव और खुशी के लिए जलाए जाते हैं लेकिन मौतों और बीमारियों का जश्न मनाने के लिए नहीं फोड़े जाते।’ हालांकि इस सब का दिल्लीवासियों पर कोई असर नहीं हुआ और उन्होंने जमकर पटाखे फोड़े।

ये भी पढे़ं – इन राज्यों में 30 November तक नहीं चला सकेंगे पटाखे, #NGT ने जारी किए आदेश

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है