Covid-19 Update

3497
मामले (हिमाचल)
2278
मरीज ठीक हुए
16
मौत
2,325,026
मामले (भारत)
20,378,854
मामले (दुनिया)

पुलिस हिरासत में आरटीआई कार्यकर्ता की मौत, पूरा थाना लाइन हाजिर

मां ने कहा रिश्तेदारों ने की पिटाई पुलिस ने नहीं करवाया सही इलाज

पुलिस हिरासत में आरटीआई कार्यकर्ता की मौत, पूरा थाना लाइन हाजिर

- Advertisement -

बाड़मेर। राजस्थान में बाड़मेर के बालटोरा में एक आरटीआई कार्यकर्ता की पुलिस हिरासत (police custody) में मौत का मामला सामने आया है। कार्यकर्ता की मौत के बाद पूरे थाने को लाइन हाजिर कर दिया गया है। बाड़मेर के पुलिस अधीक्षक (एसपी) शरद चौधरी ने कहा कि आरटीआई कार्यकर्ता जगदीश गोलियां (40) को भारतीय दंड संहिता की धारा 151 के तहत सुरक्षात्मक हिरासत में रखा गया था। उनका अपने दो रिश्तेदारों के साथ जमीनी विवाद (Land dispute) चल रहा था।


यह भी पढ़ें :-चुनावों से पहले बीजेपी नेता सहित परिवार के सदस्यों पर हमला, पांच की मौत, तीन गिरफ्तार

एसपी ने कहा, ‘रविवार को उन्हें और उनके दो भतीजों को पकड़कर तहसील कार्यालय में कार्यकारी मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया। जहां उनके दोनों भतीजों को तहसील कार्यालय में पेश करने के बाद जमानत मिल गई। वहीं, आरटीआई कार्यकर्ता की हालत खराब हो गई और फिर उनकी मौत हो गई।’

जगदीश को गोपाल और ओम सहित अन्य लोगों से जान से मारने की धमकी (Threats to kill) मिल रही थी। शनिवार को गोपाल और ओम सहित अन्य लोग दोपहर के 12.30 बजे खेत पर पहुंचे और उन्होंने कार्यकर्ता की पिटाई कर दी। जगदीश की मां देवी ने अपनी शिकायत में आरोप लगाया है कि पिटाई के कुछ समय बाद पचपडरा के थाना प्रभारी सरोज चौधरी घटनास्थल पर पहुंचे और जगदीश को पुलिस थाने लेकर चले गए। उन्होंने उन्हें लगी बाहरी और आंतरिक चोटों का इलाज नहीं कराया जिसके कारण उनके बेटे की मौत (death) हो गई। बालोटरा पुलिस स्टेशन में आईपीसी की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है। पुलिस अधीक्षक का कहना है कि जगदीश की मौत कैसे हुई इसकी जांच की जा रही है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …. 

- Advertisement -

loading...
loading...
Facebook Join us on Facebook. Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

















सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है