Covid-19 Update

1,98,551
मामले (हिमाचल)
1,90,377
मरीज ठीक हुए
3,375
मौत
29,505,835
मामले (भारत)
176,585,538
मामले (दुनिया)
×

नवरात्र में कैसे करें पूजा, क्या बरतें सावधानियां

नवरात्र में कैसे करें पूजा, क्या बरतें सावधानियां

- Advertisement -

नवरात्र में मां की स्थापना के दिन घर के सभी सदस्यों को नित्य कर्मों से निवृत हो कर स्नान कर स्वच्छ व स्त्र धारण करें। पूजन करते समय आपका मुंह पूर्व या उत्तर की ओर रहे।

घट स्थापना के लिए मिट्टी, तांबे या पीतल का कलश लें । कलश को सुंदर ढंग से हल्दी कुंकुम से स्वास्तिक आदि बना कर अलंकृत करें। उसमें जल भरें तथा गंगा जल भी डालें । कलश के मुंह पर पंचपल्लव अथवा आम की पांचपत्तियों वाली टहनी को इस तरह रखें कि पत्तियों का ऊपरी सिरा कलश के चारों तरफ दिखाई दे। पानी वाले नारियल को लाल कपड़े में लपेट कर कलश पर रखें । पवित्र स्थान से लाई गई मिट्टी में जौ मिला कर वेदी बनाएं। इसी वेदिका पर कलश को स्थापित करना है। अब कलश में वरुण देव का आवाहन करें।


सर्वे समुद्र सरिता स्तीर्थानि जलदा नदा:
आयन्तु देव पूजार्थ दुरितक्षय कारका:
गंगे च यमुने चैव गोदावरी सरस्वति
नर्मदे सिंधु कावेरी जलेस्मिन सन्निधिं कुरु

इस अवसर पर जो सप्तशती का पाठ करते हैं, उन्हें एक अलग मिट्टी के पात्र में जौ बोना चाहिए। इस अंकुरित जौ को बहुत शुभ माना जाता है।

जौ का रंग है भविष्य का सूचकः  यदि अंकुरित  का रंग काला है तो निर्धनता आती है, धुएं के रंग का है तो परिवार में कलह होती है अगर जौ नहीं उगते हैं तो जन-हानि होगी तथा कामों में बाधा आएगी। जौ में हल्की लालिमा हो तो शत्रु भय रहता है । हरा रंग धन-धान्य का सूचक है, जबकि सफेद रंग अत्यंत शुभ माना गया है।

मूर्ति स्थापना- मां की मूर्ति को लकड़ी की चौकी पर लाल या पीला व बिछा कर स्थापित करें। जल से स्नान करवाने के बाद धूप-दीप नैवेद्य से पूजा करें तथा सभी देवताओं से प्रार्थना करें कि वे आकर आपकी पूजा को सफल बनाएं।
अखंड ज्योति की स्थापना तभी करें जब आप इसकी सुरक्षा कर सकें। यह निरंतर नौ दिनों तक जलती रहनी चाहिए क्योंकि यह साधना की अखंडता एवं समृद्धि का प्रतीक है।

नवरात्र पाठ-इसके तहत आप किसी दुर्गा मंत्र का अथवा सप्तशती का पाठ कर सकते हैं। जप की संख्या प्रति दिन एक ही जैसी होनी चाहिए।

नवरात्र समाप्ति के बाद समस्त पूजन सामग्री हवन की भस्म आदि नदी या जलाशय में विसर्जित करें।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है