Covid-19 Update

59,148
मामले (हिमाचल)
57,580
मरीज ठीक हुए
987
मौत
11,229,271
मामले (भारत)
117,446,648
मामले (दुनिया)

भारत सरकार भीतरी व बाहरी आतंकवाद को खत्म करने को उठाए ठोस कदम

भारत सरकार भीतरी व बाहरी आतंकवाद को खत्म करने को उठाए ठोस कदम

- Advertisement -

Naxalite attack Chhattisgarh : कांगड़ा। छतीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुए सुन्नी के सीआरपीएफ जवान मामले में सुन्नी व आसपास की पंचायत के पंचायत प्रतिनिधियों ने रोष रैली निकाली। रोष रैली निकालकर तहसीलदार के माध्यम से पीएम नरेंद्र मोदी को एक ज्ञापन भेजा गया है। जानकारी देते हुए सुन्नी पंचायत के उपप्रधान रमेश ने बताया कि आज रोष रैली निकाली गई व एक ज्ञापन पीएम को भेजा गया। ज्ञापन में मांग की गई है कि भारत सरकार भीतरी व बाहरी आतंकवाद को खत्म करने के लिए ठोस कदम उठाए, ताकि हमारे जवानों की ऐसे शहादत न हो। उन्होंने बताया कि सुन्नी पंचायत के सीआरपीएफ में कार्यरत सुरेश कुमार (32) छतीसगढ़ में नक्सली हमले में शहीद हुए हैं। उन्होंने कहा कि सरहदों पर आए दिन जवान अपने प्राणों की आहूति दे रहे हैं, इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

  • सुन्नी व आसपास की पंचायत के लोगों ने रोष प्रदर्शन कर पीएम को भेजा ज्ञापन

इस अवसर पर शहीद अमर रहे के नारे भी गूंजे। इस मौके पर जिला परिषद सदस्य शशी चैधरी, प्रधान ग्राम पंचायत सुन्नी आशा कुमारी, उपप्रधान रमेश, युवक मंडल अध्यक्ष प्रवीण कुमार, प्रधान ग्राम पंचायत बलोल डिंपल कुमारी, उपप्रधान राम भूषण, उपप्रधान चंदरोट विनय कुमार, उपप्रधान लूहना अनिल कुमार, राजमल, सतीश शर्मा, प्रीतम सिंह, मदन लाल, अशोक कुमार, जगदीश चंद, धर्म चंद, रोशन लाल, राज कुमार, जनक राज, देश राज, मेजर विशन दास, माधो राम, चुनी लाल, अमी चंद, सरजीत कुमार, पवना देवी, कुलदीप शर्मा, जीत कुमार, सरला देवी, रमेश चंद व विनोद कुमार आदि मौजूद थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है