Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

अम्फान के बाद मंडराया ‘निसर्ग’ का खतरा: गुजरात में NDRF की 11, महाराष्ट्र में 10 टीमें तैनात

अम्फान के बाद मंडराया ‘निसर्ग’ का खतरा: गुजरात में NDRF की 11, महाराष्ट्र में 10 टीमें तैनात

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश के पूर्वी राज्य ओडिशा और पश्चिम बंगाल अभी ‘अम्फान’ चक्रवात के दर्द से उबरे भी नहीं कि गुजरात और महाराष्ट्र (Maharashtra-Gujarat) में निसर्ग चक्रवात (Nisarg cyclonic storm) का खतरा मंडराने लगा है। ‘निसर्ग’ चक्रवात के मद्देनज़र गुजरात में एनडीआरएफ (NDRF) की 11 टीमें, महाराष्ट्र में 10, दादरा नगर हवेली और दमन व दीव में 1-1 टीमें तैनात की गई हैं। इसमें से तीन टीम मुंबई में, दो पालघर में और एक-एक टीम ठाणे, रायगड़, रत्नागिरी और सिंधुदुर्ग में तैनात की गई हैं। एनडीआरएफ की टीमें महाराष्ट्र सरकार, मौसम विभाग और जिलों के प्रशासन से लगातार संपर्क में हैं।

केंद्र सरकार अलर्ट: गृहमंत्री अमित शाह ने की हाई लेवल मीटिंग

निसर्ग की तैयारियों को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने नैशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथॉरिटी के अधिकारियों के साथ बैठक की। शाह ने गुजरात और महाराष्ट्र के सीएम से वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए बात कर दोनों राज्यों में स्थिति की जानकारी ली। बतौर भारतीय मौसम विभाग, 3-4 जून को महाराष्ट्र के कई ज़िलों और दक्षिण गुजरात में अत्यंत भारी बारिश की संभावना है।

यह भी पढ़ें: हिंदुस्तानी भाउ ने एकता कपूर व उनकी मां के खिलाफ दर्ज कराई FIR, लगाए यह आरोप

3-4 जून को तटों पर ना जाने की सलाह दी गई है। मौसम विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि अरब सागर में बने दबाव के एक विकराल चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका है, जो तीन जून को उत्तरी महाराष्ट्र और दक्षिण गुजरात तटों से होकर गुजरेगा। इससे मुम्बई के अत्याधिक प्रभावित होने की आशंका है।

90-100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने और बारिश होने की संभावना

इस सब के बीच गुजरात के सीएम विजय रुपाणी लॉकडाउन के बीच पहली बार अपने बंगले से बाहर निकले और आगामी चक्रवात की स्थिति को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक के लिए राज्य के आपातकालीन केंद्र पहुंचे। सीएम ने कहा कि, 3 जून को सूरत, नवसारी, वलसाड,भरूच, भावनगर और अमरेली में 90-100 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने और बारिश होने की संभावना है। उन्होंने कहा कि संभावित इलाकों में NDRF की 10 टीमों और SDRF की 5 टीमों को तैनात कर दिया गया है। वहीं, कुछ टीमों को स्टैंडबाई पर अलर्ट रखा गया है। सीएम रुपाणी ने कहा कि इस समय बीमारों, बुजुर्गों और बच्चों की देखभाल की आवश्यकता ज्यादा है। जिला कलेक्टरों को मंगलवार दोपहर 12 बजे तक निचले इलाकों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट करने का आदेश दिया गया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है