Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

नेपाल के FM में बज रहे भारत विरोधी गाने, सीमा पर लोगों ने बंद किया Radio सुनना

नेपाल के FM में बज रहे भारत विरोधी गाने, सीमा पर लोगों ने बंद किया Radio सुनना

- Advertisement -

धारचूला। एक तरफ एलएसी पर हिंसक घटना से देश के लोग दुखी है दूसरी ओर भारत-नेपाल विवाद के बीच नेपाल के एफएम रेडियो (FM radio) में भारत विरोधी गाने बज रहे हैं। इन गानों में भारत के कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा को नेपाल की भूमि बताया जा रहा है। बार-बार इस तरह के गाने बजने के चलते सीमांत के लोगों ने अब एफएम रेडियो सुनना बंद कर दिया है। भारत के तमाम विरोध के बावजूद नेपाल ने भारतीय भूमि कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा को अपने नक्शे में शामिल कर लिया है। अब इससे संबंधित गीत नेपाल के एफएम रेडियो में भी प्रसारित हो रहे हैं। हमरो हो यो कालापानी, लिपुलेख, लिपिंयाधुरा- उठा जागा विर नेपाली… समेत कुछ अन्य भारत विरोधी गीतों से अक्सर एफएम में नेपाली गीत (Nepali song) सुनने वाले भारतीयों को गहरा धक्का लगा है।

यह भी पढ़ें: Corona Breaking:चंबा व सोलन में सुबह -सवेरे दो लोग आए Positive

 


सोशल मीडिया पर भी की जा रही विवादित पोस्ट

इसकी वजह से धारचूला में रहने वाले भारतीय लोगों ने इस एफएम चैनल को सुनना बंद कर दिया है। नेपाली एफएम चैनल द्वारा ऐसे गीत प्रसारित करने से लोगों में काफी नाराजगी है। इतना ही नहीं नेपाल के सोशल मीडिया (social media) पर भी भारत के खिलाफ काफी विवादित पोस्ट की जा रही हैं। यू-ट्यूब चैनल में भी नेपाल के लोग कालापानी, लिपुलेख, लिम्पियाधुरा को अपनी जमीन बताते हुए इसे भारत से छुड़ाने की बातें कही जा रही हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

कल्याण संस्था धारचूला इकाई के पूर्व अध्यक्ष कृष्णा गर्ब्याल का कहना है कि कालापानी का गीत नेपाल के एफएम में बजने का मामला सामने आया है। भारत-नेपाल के रोटी-बेटी के रिश्तों को ध्यान में रखते हुए इस तरह लोगों की भावनाओं को भड़काने वाली चीजों का प्रचार-प्रसार नहीं होना चाहिए। दार्चुला नेपाल के व्यापार संघ अध्यक्ष मंगल सिंह ठगुन्ना ने कहा कि दोनों देशों के मैत्रिपूर्ण संबंध रहे हैं। यह संबंध आगे भी बने रहने चाहिए। भारत-नेपाल देशों के सीमांत में रहने वाले लोग एक दूसरे के सुख-दुख के साथी हैं। लोग चाहते हैं कि जो भी विवाद का विषय है उसको हल किया जाना चाहिए।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है