×

बजट में पुरानी पेंशन बहाल ना होने से न्यू पेंशन कर्मचारी संघ उखड़ा, अब करेगा कुछ ऐसा

डीसी कार्यालय के बाहर किया धरना, पूरे सत्र तक चलेगा प्रदर्शन

बजट में पुरानी पेंशन बहाल ना होने से न्यू पेंशन कर्मचारी संघ उखड़ा, अब करेगा कुछ ऐसा

- Advertisement -

शिमला/मंडी। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur)ने बीते रोज बजट पेश किया। जिसमें पुरानी पेंशन बहाल ना होने से न्यू पेंशन कर्मचारी संघ उखड़ गया है। न्यू पेंशन कर्मचारी महासंघ ने रविवार को फैसला किया है कि जब तक विधानसभा में बजट सत्र (Budget Session)चलता रहेगा तब तक संघ डीसी कार्यालय (DC Office) के बाहर प्रदर्शन करता रहेगा। बता दें कि न्यू पेंशन कर्मचारी महासंघ (New Pension Employees Union)हिमाचल प्रदेश में पुरानी पेंशन बहाली को लेकर लगातार संघर्ष कर रहा है। तीन मार्च को संघ ने अम्बेडकर चौक चौड़ा मैदान में पेंशन व्रत पर बैठा था जिसमें सरकार से बजट में पुरानी पेंशन की बहाली (Restoration of old pension) की मांग की गई थी, लेकिन व्रत का कोई फल ना मिलने पर रविवार को संघ डीसी कार्यालय के बाहर पूरे सत्र तक प्रदर्शन करने का फैसला किया है।


यह भी पढ़ें: Himachal : बजट सत्र में पुरानी पेंशन बहाली का फैसला नहीं हुआ तो होगा उग्र आंदोलन

न्यू पेंशन स्कीम कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष प्रदीप ठाकुर ने बताया कि संघ ने 3 मार्च को पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर पेंशन व्रत किया था जिसमें 6 मार्च को पेश होने वाले बजट में पुरानी पेंशन बहाली की मांग की गई थी, लेकिन सरकार ने उनकी मांग को अनसुना कर दिया है। सरकार ने कोरोना (Corona) काल में कर्मचारियों का डीए रोक दिया, समय पर सैलरी नही दी गई। दूसरी और माननीयों ने अपनी सैलरी स्वेच्छा से त्यागी थी उनकी पूरी सैलरी बहाल कर दी गई। उन्होंने कहा कि सरकार कर्मचारियों की और कोई ध्यान नही दे रही, बल्कि कर्मचारी विरोधी निर्णय लिए जा रहे हैं। जिसके बाद कर्मचारियों को सड़क पर आने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि यह प्रदर्शन सत्र के खत्म होने तक चलेगा और उसके बाद आगे की रणनीति बनाई जाएगी।

कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता बोले, वार्षिक बजट ने तोड़ी लोगों की उम्मीदें

हिमाचल प्रदेश कांग्रेस कमेटी (Himachal Pradesh Congress Committee)के प्रवक्ता आकाश शर्मा ने मंडी में कहा कि राज्य की बीजेपी सरकार (BJP Govt) द्वारा पेश किया गया वार्षिक बजट दिशाहीन और राहत विहीन है। मंडी में आयोजित पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए आकाश शर्मा ने कहा कि प्रदेश में इस समय बेरोजगारी और महंगाई चरम पर है। ऐसे में सरकार के वार्षिक बजट से लोगों को ढेरों उम्मीदें थी, लेकिन सरकार कोई राहत लोगों को नहीं दे सकी। उन्होंने कहा कि महंगाई के नाम पर सत्ता पर काबिज होने वाली बीजेपी सरकारें आज देश और प्रदेश की जनता को इससे राहत दिला पाने में पूरी तरह से नाकाम साबित हुई हैं। सरकार के वार्षिक बजट में भविष्य की कोई ठोस योजनाएं भी नजर नहीं आ रही जिससे प्रदेश का विकास हो सके और जनता को लाभ मिल सके।

यह भी पढ़ें: हिमाचलः Old Pension बहाली को ‘पेंशन व्रत’ का ऐलान, 1 मार्च से होगा शुरू

आकाश शर्मा ने पूर्व में रही वीरभद्र सिंह सरकार का हवाला देते हुए कहा कि जब वीरभद्र सरकार के समय देश सहित प्रदेश भर में महंगाई बढ़ी थी तो उस वक्त वार्षिक बजट के दौरान प्रदेश की जनता को राहत दिलाने के लिए 100 करोड़ के बजट का प्रावधान किया गया था, लेकिन मौजूदा सरकार ऐसा करने में नाकाम रही है। उन्होंने सरकार को सलाह दी है कि सरकार अपनी योजनाओं पर सही ढंग से काम करे, ताकि प्रदेश की जनता को उनका लाभ मिल सके।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है