Covid-19 Update

58,979
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,173,761
मामले (भारत)
116,220,912
मामले (दुनिया)

ये क्याः गाड़ी Registration की नई नीति ने उड़ाए होश

ये क्याः गाड़ी Registration की नई नीति ने उड़ाए होश

- Advertisement -

Vehicle Registration: धर्मशाला। नई गाड़ी का शौक है तो जरा ठहर जाएं। वाहन पंजीकरण की फीस सहित दूसरे टैक्स पर अगर गौर करेंगे तो शायद ही आपका मन नई गाड़ी खरीदने का होगा। बहरहाल जो लोग नई गाड़ी खरीद चुके हैं अब उन्हें पंजीकरण की भारी भरकर फीस के साथ अपनी जेब ढीली करनी पड़ रही है। प्रदेश सरकार की नई नीति के अनुसार वाहनों के पंजीकरण पर पांच से 10 फीसदी सेस (उपकर) और वाहन के अनुसार 500 से चार हजार रुपए तक ग्रीन टैक्स वसूल किया जा रहा है। इसका सबसे ज्यादा असर टैक्सी और अन्य व्यावसायिक वाहन मालिकों पर पड़ रहा है।

Vehicle Registration: टैक्स भरने के लिए करनी पड़ रही जेब ढीली

निजी वाहन मालिक को यह अतिरिक्त टैक्स एकमुश्त देना है, लेकिन व्यवसायिक वाहन मालिकों द्वारा हर साल दिए जाने वाले टैक्स में यह नए टैक्स अदा करने होंगे, जिनसे उनपर टैक्स का बोझ बहुत अधिक बढ़ गया है। इन लोगों का कहना है कि पहले ही उनसे इतना टैक्स वसूला जाता है और अब सैस और ग्रीन टैक्स की अतिरिक्त मार से इन्हें आर्थिक परेशानी झेलनी पड़ेगी।

बता दें कि प्रदेश में वाहनों पर पहली बार सेस व ग्रीन टैक्स लगाया गया है। पहली अप्रैल से सभी प्रकार के नए वाहनों के पंजीकरण के दौरान वाहन की कीमत पर तीन फीसदी तक पंजीकरण फीस वसूली जा रही है। पुराने वाहनों के पंजीकरण के दौरान बीमा में दर्ज कीमत के अनुसार तीन फीसद टैक्स लिया जाता है।

नई अधिसूचना में 3 फीसदी टैक्स पर दस फीसदी वसूली

नई अधिसूचना के तहत नए वाहनों से वसूल किए जाने वाले तीन फीसदी टैक्स पर दस फीसदी, जबकि पुराने या कमर्शियल वाहनों से पांच फीसदी सेस लिया जा रहा है। परिवहन विभाग की अधिसूचना के अनुसार दोपहिया वाहनों से 500 रुपए ग्रीन टैक्स के रूप में वसूल किए जा रहे हैं। एलएमवी वाहनों में भी इंजन क्षमता के आधार पर ग्रीन टैक्स वसूल किया जा रहा है। 1500 सीसी तक इंजन क्षमता वाले वाहन के पंजीकरण पर 2000 रुपए, 2 हजार सीसी इंजन क्षमता तक के वाहन के लिए तीन हजार रुपए और 2 हजार सीसी से अधिक इंजन क्षमता वाले वाहनों के पंजीकरण पर 4 हजार रुपए ग्रीन टैक्स वसूल किया जा रहा है।

कमर्शियल और पुराने एलएमवी वाहनों में थ्री व्हीलर के लिए 300 रुपए, 6 वर्ष तक के पुराने वाहनों के पंजीकरण के लिए एक हजार ओर 6वर्ष से ज्यादा पुराने वाहनों के पंजीकरण के लिए 1500 रुपए ग्रीन टैक्स वसूल किया जा रहा है। पुराने भारी वाहनों में 6 वर्ष तक पुराने वाहनों के पंजीकरण के लिए 1500 रुपए जबकि 6 वर्ष से अधिक पुराने वाहनों के पंजीकरण के लिए 2 हजार रुपए ग्रीन टैक्स वसूल किया जा रहा है। इस बारे में आरटीओ धर्मशाला का अतिरिक्त कार्यभार देख रहे जगन ठाकुर ने बताया कि सरकार से अधिसूचना प्राप्त हुई है और उसी के अनुसार सेस और ग्रीन टैक्स वसूल किया जा रहा है।

Himachal की तर्ज पर पूरे देश में लागू होगी ई विधानसभा

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है