Covid-19 Update

2,00,410
मामले (हिमाचल)
1,94,249
मरीज ठीक हुए
3,426
मौत
29,933,497
मामले (भारत)
179,127,503
मामले (दुनिया)
×

मेडिकल कॉलेज नेरचौक का हाल : 5 घंटे तक एंबुलेंस का इंतजार करता रहा नवजात

मेडिकल कॉलेज नेरचौक का हाल : 5 घंटे तक एंबुलेंस का इंतजार करता रहा नवजात

- Advertisement -

सुंदरनगर। सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) के गृह जिला मंडी में लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज नेरचौक (Lal Bahadur Shastri Medical College Nerchowk) अपनी अव्यवस्था व सुविधाओं की कमी को लेकर हमेशा चर्चा में रहता है। ताजा घटनाक्रम में एक बार फिर यह कॉलेज सुर्खियों में आ गया है। इस बार मेडिकल कॉलेज में तीन दिन पहले पैदा हुए बच्चे को इंफेक्शन (Infections) होने पर रेफर करने के बाद एंबुलेंस तक मुहैया करवाने में कॉलेज और 108 प्रबंधन नाकाम रहा है।

ये भी पढ़ें : जानिए, नेरचौक में कब शुरू होगी हिमाचल की पहली मेडिकल यूनिवर्सिटी

 


मंडी (Mandi) के छिपणू निवासी महेश ने कहा कि नेरचौक मेडिकल कॉलेज के गायनी विभाग में उनकी पत्नी नेहा का तीन दिन पहले प्रसव (Delivery) हुआ था। सर्जरी से पैदा हुए नवजात (Newborn) के पेट में इंफेक्शन था और डॉक्टरों ने उसे आईजीएमसी शिमला रेफर किया था। उन्होंने कहा कि रेफर करने के बाद 5 घंटे तक बार-बार कॉलेज प्रबंधन से आग्रह करने पर उनके तीन दिन के बच्चे को एंबुलेंस मुहैया नहीं करवाई गई। पीड़ित ने कहा कि जब 108 पर कॉल की गई तो अगले 18 घंटे बाद एंबुलेंस आने के बारे में बताया गया।
महेश ने कहा कि यह सुन कर उन्होंने 5 हजार की राशि अदा कर निजी अस्पताल से एंबुलेंस (Ambulance) बुलाई और अपने 3 दिन के बच्चे को आईजीएमसी शिमला (IGMC Shimla) पहुंचाया। उन्होंने कहा कि कहने को तो नेरचौक मेडिकल कॉलेज प्रदेश के बड़े अस्पतालों में  गिना जाता है लेकिन हैरानी की बात है कि क्या यहां पर केवल एक ही एंबुलेंस हैं। 18 घंटे इंतजार करने तक अगर बच्चे को कुछ हो जाता तो क्या प्रदेश सरकार, डॉक्टर और स्वास्थ्य मंत्री के पास इस का जवाब होता। नेरचौक कॉलेज पर करोड़ों खर्च करने के बाद यहां पर एक एंबुलेंस मुहैया नहीं होने से प्रदेश सरकार की स्वास्थ्य सुविधाओं को लेकर किए जा रहे दावों की पोल खुली है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है