×

मिड-डे मीलः हिमाचल के 15 हजार से अधिक स्कूलों में फैल रहा प्रदूषण, एनजीटी सख्त

मिड-डे मीलः हिमाचल के 15 हजार से अधिक स्कूलों में फैल रहा प्रदूषण, एनजीटी सख्त

- Advertisement -

शिमला। प्रदेश के सरकारी स्कूलों (Government Schools) में परोसे जाने वाले मिड-डे मील (Mid Day Meal) के दौरान ग्रीन वेस्ट (Green Waste) को लेकर नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) ने सरकार (Goverment) को नोटिस (Notice) जारी किया है। मिड-डे-मील (Mid Day Meal) की सर्विंग व कुकिंग की वजह से बढ़ रहे ग्रीन वेस्ट मसले पर एनजीटी (NGT) सख्त हो चुका है। हालांकि इस संदर्भ में किसी ने भी एनजीटी (NGT) से शिकायत नहीं की है, लेकिन मिड-डे मील (Mid Day Meal) के दौरान स्कूल प्रबंधनों द्वारा ग्रीन वेस्ट (Green Waste) का सही प्रयोग न करने पर एनजीटी (NGT) ने सरकार को नोटिस (Notice) जारी कर ग्रीन वेस्ट के निपटारे के लिए ठोस प्रस्ताव मांगा है।


यह भी पढ़ें: दिन-दहाड़े स्कूल से अगवा किया नौवीं कक्षा का छात्र, पुलिस ने 24 घंटे में ढूंढ निकाला

बता दें कि एकत्रित हो रहा बायोडिग्रेडेबल एंड नॉन डिग्रेडेबल ठोस कूड़ा बड़ी समस्या बनता जा रहा है। वहीं मिड-डे-मील योजना के तहत 15 हजार 500 स्कूलों में ग्रीन वेस्ट (Green Waste) का उपयुक्त निपटारा नहीं हो रहा है। इसकी वजह से यह समस्या विकराल रूप लेती जा रही है। मिड-डे-मील प्रदेश के प्राइमरी व अप्पर प्राइमरी स्कूलों के पहली से आठवीं तक के 5 लाख से ज्यादा छात्रों के लिए पकाया व परोसा जाता है। इस कार्य के लिए स्कूल प्रबंधन कमेटियों ने 21 हजार 753 मिड-डे-मील वर्कर तैनात किए गए हैं।

ग्रीन वेस्ट को ठिकाने लगाने के लिए भी निर्देश जारी

एनजीटी ने मिड-डे-मील (Mid Day Meal) योजना के तहत खराब सब्जियों, फलों एवं व्यर्थ भोजन से तैयार हो रहे ग्रीन वेस्ट (Green Waste) को ठिकाने लगाने के लिए भी निर्देश जारी किए हैं। एनजीटी ने इसके निपटारे के लिए स्कूलों के समीप गड्ढा खोद कर इसे डंप करने के लिए कहा है। साथ ही यह भी सुनिश्चित करें कि इसकी वजह से प्रदूषण तो नहीं फैल रहा है।

एनजीटी ने प्रारंभिक शिक्षा निदेशक को निर्देश जारी किए हैं कि वह सभी प्राइमरी, अप्पर प्राइमरी के उपनिदेशकों के साथ-साथ ब्लॉक प्राइमरी अफसरों के तहत सभी स्कूलों में एनजीटी (NGT) के आदेशों की पालना सुनिश्चित करवाएं और एसएमसी की सहायता से स्कूलों के किनारे गड्ढे के लिए उपयुक्त स्थान देखकर ग्रीन वेस्ट Green Waste) को सही तरीके से डंप करें। सभी स्कूलों को इन गड्ढों में ग्रीन वेस्ट डालकर इसे अच्छी तरह ढकने के लिए भी कहा है, ताकि इससे तैयार होने वाली खाद का इस्तेमाल स्कूल के किचन गार्डन (Kitchen Garden) में किया जा सके। इससे स्कूल (School) का पर्यावरण साफ-सफाई एवं सुंदरता बढ़ेगी।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है