Covid-19 Update

59,014
मामले (हिमाचल)
57,428
मरीज ठीक हुए
984
मौत
11,190,651
मामले (भारत)
116,428,617
मामले (दुनिया)

#Nikita_Tomar हत्याकांड : परिजन हरियाणा सरकार के रवैये से नाखुश, आमरण-अनशन पर बैठेंगे

परिजनों ने केंद्रीय मंत्री से की मुलाकात, कहा-मांगे ना मानी तो करेंगे अनशन

#Nikita_Tomar हत्याकांड : परिजन हरियाणा सरकार के रवैये से नाखुश, आमरण-अनशन पर बैठेंगे

- Advertisement -

फरीदाबाद। निकिता तोमर हत्याकांड (Nikita Tomar Murder Case) देशभर में सुर्खियों में रहा था। अब खबर सामने आई है कि मृतका निकिता तोमर के परिजन (Family Mambers) हरियाणा सरकार (Haryana Government) के रवैये से नाखुश हैं और 30 जनवरी से आमरण अनशन (Hunger Strike) पर बैठने वाले हैं। परिजनों ने आरोप (Allegation) लगाया है कि सरकार ने परिवार के साथ धोखा किया। तीन महीने में दोषियों (Accused) को सजा का आश्वासन दिया गया था, लेकिन अभी तक उन्हें न्याय नहीं मिला है।

यह भी पढ़ें: Badaun Gangrape and Murder Case: मुख्य आरोपी महंत सत्यनारायण गिरफ्तार, 50 हजार था इनाम

निकिता तोमर के पिता मूलचंद और परिजन न्याय की मांग को लेकर सोमवार को हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर से मिले थे। बताया जा रहा है यहां सीएम से निकिता के परिजनों को साप जवाब नहीं मिला। इसके बाद परिजनों ने मंगलवार को फरीदाबाद सेक्टर 28 स्थित केंद्रीय मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर के आवास पर उनसे मुलाकात की। इस दौरान परिजनों ने चार मांगें भी उठाई। परिजनों का कहना है कि महापंचायत के दौरान जिन 37 लोगों को केस दर्ज किया गया है उसे वापिस लिया जाए। इसके अलावा निकिता के भाई को भी नौकरी दी जाए। तीसरी मांग परिजनों ने रखी है कि उन्हें आर्थिक मदद की जाए और सेक्टर दो स्थित सरकारी कॉलेज का नामकरण निकिता के नाम पर हो।

क्या है पूरा मामला

गौरतलब हो कि हरियाणा के बल्लभगढ़ में निकिता तोमर की हत्या कर दी गई थी। मामला 26 अक्टूबर 2020 का है। निकिता उत्तर प्रदेश के हापुड़ की रहने वाली थी। वारदात उस समय हुई जब निकिता अग्रवाल कॉलेज से पेपर देकर निकली थी। इसी दौरान सोहना निवासी तौसीफ ने अपने एक दोस्त के साथ पहले निकिता को कार से अगवा करने की कोशिश की और बाद में निकिता को गोली मार दी। हत्याकांड का वीडियो भी खूब वारयल हुआ था।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है