Covid-19 Update

2,16,430
मामले (हिमाचल)
2,11,215
मरीज ठीक हुए
3,631
मौत
33,380,438
मामले (भारत)
227,512,079
मामले (दुनिया)

‘निर्भया केस के दोषियों की फांसी में देरी के लिए दिल्ली सरकार जिम्मेदार’

‘निर्भया केस के दोषियों की फांसी में देरी के लिए दिल्ली सरकार जिम्मेदार’

- Advertisement -

नई दिल्ली। दिल्ली के निर्भया गैंगरेप और मर्डर मामले (Nirbhaya gang rape and murder case) में दोषियों को उनके अपराध के लिए फांसी की सजा दी जा चुकी है। लेकिन किसी ना किसी वजह से उनकी फांसी टलती जा रही है। अब फांसी में हो रही देरी को लेकर राजनीतिक बयानबाजी भी शुरू हो गई। गुरुवार को बीजेपी (BJP) की तरफ से दिल्ली की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार पर आरोप लगाया कि राज्य सरकार की ढिलाई के कारण दोषियों की फांसी में देरी हो रही है। केन्द्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने AAP पर करारा प्रहार करते हुए कहा कि न्याय में देरी के लिए दिल्ली सरकार जिम्मेदार है।

यह भी पढ़ें: बाथरूम में नहाने गई महिला का फिसला पैर, करंट लगने से गई जान

उन्होंने कहा कि पिछले 2.5 साल में दिल्ली सरकार ने दोषियों को दया याचिका दाखिल करने के लिए नोटिस क्यों नहीं दिया? जावड़ेकर ने AAP पर हमला जारी रखते हुए कहा कि देश को झकझोरने वाला जो निर्भया कांड हुआ, उसके आरोपी अभी तक फांसी पर नहीं लटके, इसका एक ही कारण है। दिल्ली में आम आदमी पार्टी की जो सरकार है, उनकी लापरवाही के कारण वह फांसी पर नहीं लटके। सुप्रीम कोर्ट ने उनका अपील 2017 में ही खारिज किया था। उनको फांसी की सजा दी थी। एक प्रक्रिया होती है, जिसके तहत तिहाड़ जेल प्रशासन को नोटिस देना पड़ता है कि आपको क्या याचिकाएं देना है। लेकिन यह नोटिस पिछले साल अक्टूबर तक नहीं दिया गया। यह ढाई साल की देरी है, यह दिल्ली सरकार की गुनहगारों को प्रति सहानुभूति है। डेथ वॉरंट पर सुनवाई के दौरान दिल्ली सरकार के वकील राहुल मेहरा ने कहा कि 22 को फांसी नहीं लग सकती है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है