Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

निर्भया केस: राष्ट्रपति के पास पहुंची दया याचिका, बोले- पॉक्सो एक्ट में दया का प्रावधान हो खत्म

निर्भया केस: राष्ट्रपति के पास पहुंची दया याचिका, बोले- पॉक्सो एक्ट में दया का प्रावधान हो खत्म

- Advertisement -

नई दिल्ली। हैदराबाद में हुए रेप आरोपियों के एनकाउंटर के इतर एक और बड़ी खबर सामने आ रही है। दरअसल देश के सबसे चर्चित निर्भया रेप कांड के कातिलों की दया याचिका गृह मंत्रालय ने खारिज कर दी है। गृह मंत्रालय ने फाइल राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के पास भेज दिया है। वहीं इस सब के बीच राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने महिला सुरक्षा को लेकर एक बड़ा बयान भी दिया है। राष्ट्रपति ने राजस्थान के सिरोही में एक कार्यक्रम के दौरान कहा है कि पॉक्सो एक्ट में सजायाफ्ता को माफी नहीं मिलनी चाहिए। ऐसे मामलों में दया याचिका का प्रावधान खत्म हो।

उन्होंने कहा कि महिला सुरक्षा एक गंभीर मसला है। पॉक्सो अधिनियम के तहत दुष्कर्म के दोषियों को दया याचिका दायर करने का अधिकार नहीं होना चाहिए। संसद को दया याचिकाओं की समीक्षा करनी चाहिए। वहीं गृह मंत्रालय ने दोषी द्वारा दायर दया याचिका को राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के पास भेजा जरूर है लेकिन इसके साथ ही राष्ट्रपति से इस याचिका को खारिज करने की भी गुजारिश की है। बता दें कि याचिका कि यह फाइल दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल से होते हुए गृह मंत्रालय पहुंची थी। मंत्रालय द्वारा अपनी सिफारिश राष्ट्रपति को भेजना प्रक्रिया का हिस्सा है। अब राष्ट्रपति दया याचिका का निपटारा करेंगे। अगर राष्ट्रपति दया याचिका खारिज कर दें उसके बाद मुजरिम को फांसी पर लटकाने का रास्ता साफ होता है।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है