Covid-19 Update

2,00,603
मामले (हिमाचल)
1,94,739
मरीज ठीक हुए
3,432
मौत
29,944,783
मामले (भारत)
179,349,385
मामले (दुनिया)
×

प्रदेश में दो साल से नहीं भरा गया Physical Teacher का एक भी पद

प्रदेश में दो साल से नहीं भरा गया Physical Teacher का एक भी पद

- Advertisement -

कुल्लू। एक तरफ जहां पीएम नरेंद्र मोदी युवाओं को खेलों से जोड़ने के लिए ‘फिट इंडिया खेलो इंडिया‘ अभियान चला रहे हैं वहीं दूसरी तरफ हिमाचल प्रदेश में इस अभियान (Campaign) को ग्रहण लग गया है। पिछले 2 वर्ष में हिमाचल प्रदेश सरकार ने प्रदेश में शारीरिक शिक्षकों के एक भी पद नहीं भरा, जिसके चलते धरातल पर 4000 से अधिक शारीरिक शिक्षकों के पद खाली चल रहे हैं। ऐसे में प्रदेश में हजारों स्कूलों में बिना शारीरिक शिक्षक के फिट इंडिया, खेलो इंडिया अभियान सफल नहीं हो पा रहा है।

यह भी पढ़ें: नवरात्र मेलों में प्राइवेट लंगर-सराय रहेंगी बंद, श्रद्धालुओं की जुटाई जाएगी Medical History


शारीरिक शिक्षकों (Physical teachers) को भविष्य की चिंता सता रही है। वर्ष 2005 के बाद सरकार ने बैकलॉग शिक्षकों के कोटे की भर्ती नहीं की, जिसके चलते हजारों बेरोजगार शारीरिक शिक्षकों की उम्र 45 वर्ष से ऊपर हो गई है। शिक्षा विभाग में खाली पड़े हजारों पदों की भर्ती नहीं की गई है। ऐसे में अब प्रदेश हाईकोर्ट ने प्रदेश सरकार से शिक्षकों की भर्ती (Recruitment of Teachers) का रिकॉर्ड मांगा है।

मामला कोर्ट पहुंचा तो हाईकोर्ट ने सरकार व शिक्षा विभाग से शारीरिक शिक्षकों के खाली पड़े पदों का ब्यौरा भी मांगा है। डीपीई संघ प्रदेश सरकार से बार-बार प्रदेश में खाली पड़े हजारों पदों को भरने के लिए आग्रह कर रहा है, लेकिन सरकार व शिक्षा विभाग शारीरिक शिक्षकों के खाली पड़े पदों को भरने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा रहे हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है