Covid-19 Update

1,53,717
मामले (हिमाचल)
1,11,878
मरीज ठीक हुए
2185
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

#फोरलेन के लिए मुआवजा लेने के बाद भी खाली नहीं किए मकान, Notice जारी- कटेगा बिजली-पानी

परवाणू से कैथलीघाट तक 250 मकान मालिकों को जारी किए नोटिस

#फोरलेन के लिए मुआवजा लेने के बाद भी खाली नहीं किए मकान, Notice जारी- कटेगा बिजली-पानी

- Advertisement -

दयाराम कश्यप/सोलन। हिमाचल के जिला सोलन (Solan) में परवाणू से शिमला तक फोरलेन (Four Lane) का निर्माण कार्य चला हुआ है, लेकिन फोरलेन की जद में आए घरों की लेटलतीफी की वजह से काम में देरी आ रही है। लोग फोरलेन में आए मकानों का मुआवजा लेने के बाद भी इन्हें खाली नहीं कर रहे हैं। मकान खाली ना करने वालों पर अब कार्रवाई की तलवार लटक गई है। एसडीएम सोलन (SDM Solan) अजय यादव ने परवाणू से कैथलीघाट तक ऐसे करीब 250 मकान मालिकों को नोटिस जारी किए है, जिन्होंने फोरलेन का मुआवजा लेने के बाद भी अपने मकानों को खाली नहीं किया है। यदि मकानों को खाली नहीं किया गया तो बिजली और पानी के कनेक्शन (Electricity and water connection) काट दिए जाएंगे। बता दें कि जिला सोलन के परवाणू से शिमला तक बन रहे राष्ट्रीय उच्च मार्ग 5 (NH-5) पर फोरलेन निर्माण के लिए इन मकानों का अधिग्रहण हुआ था। इसके लिए जमीन व मकान के मुआवजे का भुगतान मकान मालिक को किया गया है।


यह भी पढ़ें: किरतपुर-मनाली फोरलेन कार्य लोगों के लिए बना सिरदर्द, NHAI व ठेकेदार के खिलाफ खोला मोर्चा

फोरलेन निर्माण के लिए जहां पर पूरी जमीन का अधिग्रहण हुआ है वहां पर स्थिति सामान्य है, लेकिन जहां पर आधी जमीन का अधिग्रहण हुआ है और उस पर बने मकान का पूरा मुआवजा दिया गया है, वहां पर इस प्रकार की स्थिति बनी हुई है। मकान मालिकों द्वारा उस जमीन पर शेष बचे मकान की रिपेयर करवाकर रहना शुरू कर दिया है जिस आधी जमीन का अधिग्रहण नहीं हुआ है। सोलन में कई ऐसे मामले है जैसे चार बिस्वा जमीन पर एक मकान का निर्माण हुआ है। फोरलेन के निर्माण के लिए 2 बिस्वा भूमि का अधिग्रहण किया गया। सरकार ने 2 बिस्वा भूमि के साथ-साथ चार बिस्वा भूमि पर बने पूरे मकान का मुआवजा भूमि मालिक को दिया। फोरलेन निर्माता कंपनी ने फोरलेन निर्माण के लिए अधिगृहत की गई दो बिस्वा भूमि के हिस्से पर बने मकान को तोड़ दिया। जिसमें आधा मकान शेष बच गया। मकान मालिक ने आधे बने मकान की रिपेयर करवाकर या तो अपने आप रहना शुरू कर दिया या फिर भी किराए पर दे दिया। कुछ ऐसे मकान भी हैं, जिसका मुआवजा (compensation) मकान मालिक को मिल गया है, लेकिन मकान टूटने से बच गए हैं।


हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है