Covid-19 Update

2,06,589
मामले (हिमाचल)
2,01,628
मरीज ठीक हुए
3,507
मौत
31,767,481
मामले (भारत)
199,936,878
मामले (दुनिया)
×

खुशखबरी: अब कॉमर्स और आर्ट्स के छात्रों को भी मिलेगा बीएससी नर्सिंग और एएनएम में दाखिला

खुशखबरी: अब कॉमर्स और आर्ट्स के छात्रों को भी मिलेगा बीएससी नर्सिंग और एएनएम में दाखिला

- Advertisement -

नई दिल्ली। अभी तक बीएससी नर्सिंग (BSc Nursing) में साइंस के स्टूडेंट्स का वर्चस्व रहा है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा। दरअसल अब केवल साइंस वाले ही नहीं बल्कि आर्ट्स और कॉमर्स से 12वीं कर रहे छात्र भी बीएससी नर्सिंग कोर्स में दाखिला ले सकेंगे। 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के नजदीक आने के साथ ही इंडियन नर्सिंग काउंसिल (आईएनसी) ने कॉमर्स और आर्ट्स के छात्रों (commerce and arts students) के लिए खुशखबरी से भरा यह ड्राफ्ट जारी कर दिया है। आईएनसी द्वारा जारी किए गए इस ड्राफ्ट के अनुसार 12वीं आर्ट्स, कॉमर्स, साइंस या ह्यमैनिटीज में 45 प्रतिशत अंक हासिल करने वाले छात्र नए साल से बीएससी नर्सिंग, एएनएम (ANM) के कोर्स में दाखिला ले सकेंगे।

देशभर में एक समान संशोधित सिलेबस भी तैयार
इंडियन नर्सिंग काउंसिल द्वारा बीएससी नर्सिंग का देशभर में एक समान संशोधित सिलेबस भी तैयार कर दिया गया है। आईएनसी द्वारा जारी किया गया यह बदलाव 2020-21 सत्र से लागू कर दिया जाएगा। मिली जानकारी के अनुसार नर्सिंग काउंसिल ने बीएससी नर्सिंग में बदलाव का ड्राफ्ट जारी करते हुए इस पर 24 जनवरी 2020 तक फीडबैक मांगा है। नए ड्राफ्ट के अनुसार बीएससी नर्सिंग कराने वाले संस्थानों में नर्सिंग फाउंडेशन, मेडिकल सर्जिकल, साइकेट्री, पीडियाट्रिक, मिडवाइफरी एंड गायनी और कम्यूनिटी हेल्थ नर्सिंग का विभाग होना जरूरी होगा।


अब मार्क्स की जगह दिए जाएंगे ग्रेड
इसके साथ बीएससी नर्सिंग में एडमिशन के लिए होने वाले एप्टीट्यूड टेस्ट का प्रारूप भी बदला जाएगा। इसमें 100 अंकों के पेपर में 10 अंकों का एप्टीट्यूड फॉर नर्सिंग, 50 अंकों का जनरल साइंस, 20 अंक का जनरल नॉलेज, 10 अंक की अंग्रेजी और 10 अंक की सामान्य योग्यता से जुड़े प्रश्न पूछे जाएंगे। वहीं छात्रों को इस प्रवेश परीक्षा में कम से कम 50 प्रतिशत अंक अर्जित करने होंगे। वहीं नर्सिंग में अभी तक मार्क्स जाने की प्रणाली में बदलाव किया जाएगा। मिली जानकारी के नौसार्व छात्रों को नए सत्र से मार्क्स की जगह ग्रेड दिए जाएंगे। वहीं सेमेस्टर सिस्टम के तहत परीक्षाओं का आयोजन किया जाएगा। इसके साथ ही इंटरनल मार्क्स 20 से बढ़ाकर 25 किए जाएंगे। वहीं हर संस्थान में स्किल लैब अनिवार्य की गई है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel… 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है