Covid-19 Update

2,17,615
मामले (हिमाचल)
2,12,133
मरीज ठीक हुए
3,643
मौत
33,563,421
मामले (भारत)
230,985,679
मामले (दुनिया)

अब कोविड अस्पताल में Mobile इस्तेमाल कर सकेंगे कोरोना मरीज, योगी सरकार ने वापस लिया फैसला

अब कोविड अस्पताल में Mobile इस्तेमाल कर सकेंगे कोरोना मरीज, योगी सरकार ने वापस लिया फैसला

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश में लॉकडाउन-4 के बाद भी कोरोना के मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। इस बीच उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने कोविड अस्पतालों (Covid Hospitals) के आइसोलेशन वार्ड में मोबाइल फोन के उपयोग पर प्रतिबंध लगाने का आदेश वापस ले लिया है। अब वहां पर कोरोना मरीज शर्तों के साथ मोबाइल (Mobile) का इस्तेमाल कर सकेंगे। इससे पहले यूपी के स्वास्थ्य महानिदेशक केके गुप्ता की तरफ से जारी किए गए आदेश में साफ-साफ कहा गया था कि प्रदेश के कोविड-19 समर्पित एल-2 और एल-3 चिकित्सालयों में भर्ती मरीजों को आइसोलेशन वार्ड में मोबाइल फोन ले जाने की अनुमति नहीं है, क्योंकि इससे संक्रमण फैलता है। हालांकि अब योगी सरकार ने इस आदेश को वापस ले लिया है और आइसोलेशन वार्ड में मरीज मोबाइल का इस्तेमाल कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें: International व घरेलू हवाई यात्रा करने वालों के लिए Govt ने जारी किए ये निर्देश, पढ़े यहां

ये होंगी शर्तें –

ताजा आदेश के मुताबिक शर्तों के साथ रोगियों को निजी मोबाइल के प्रयोग की अनुमति (Permission) दी जा सकती है। आइसोलेशन वार्ड में जाने से पहले रोगी यह बताएगा कि उसके पास मोबाइल फोन और चार्जर है। आइसोलेशन वार्ड में भर्ती होने से पहले मोबाइल और चार्जर को चिकित्सालय प्रबंधन के जरिए डिसइंफेक्ट किया जाएगा। वहीं मोबाइल और चार्जर रोगी किसी अन्य मरीज और स्वास्थ्यकर्मी के साथ साझा नहीं करेगा। आइसोलेशन वार्ड से डिस्चार्ज होने के बाद मरीज का मोबाइल और चार्जर डिसइंफेक्ट किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Delhi में राहतः नए मामले को आए पर 24 घंटे में Coronavirus से नहीं हुई एक भी मौत

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर कसा था तंज

दरअसल, पहले यूपी के डीजी मेडिकल केके गुप्ता ने कोरोना के मरीजों को मोबाइल साथ ले जाने पर पाबंदी लगाने का आदेश दिया था। इसके लिए राज्य के सभी मेडिकल कॉलेज और संबंधित अधिकारियों को पत्र भी लिखा गया था। महानिदेशक के जरिए जारी आदेश के बाद राज्य में कोविड-19 समर्पित अस्पतालों में मरीजों के जरिए मोबाइल के इस्तेमाल पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। डीजी के मुताबिक मोबाइल से कोरोना संक्रमण फैलता है।इस मामले पर यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर तंज कसा था। अखिलेश यादव ने तंज के लहजे में ट्वीट किया, ‘अगर मोबाइल से संक्रमण फैलता है तो आइसोलेशन वार्ड के साथ पूरे देश में इसे बैन कर देना चाहिए। यही तो अकेले में मानसिक सहारा बनता है। अस्पतालों की दुर्व्यवस्था और दुर्दशा का सच जनता तक न पहुंचे, इसलिए ये पाबंदी है। जरूरत मोबाइल की पाबंदी की नहीं बल्कि सैनिटाइजेशन कराने की है।’

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है