×

अब कुत्तों व घोड़ों को भी मिलेगी पेंशन, यहां पढ़े आखिर क्या है पूरा माजरा

रिटायर होने के बाद लोग अडाप्ट करते हैं कुत्तों को

अब कुत्तों व घोड़ों को भी मिलेगी पेंशन, यहां पढ़े आखिर क्या है पूरा माजरा

- Advertisement -

सेना में कुत्तों व घोड़ों ( Dogs and horses)की सेवाएं ली जाती है। वर्षों तक सेवाएं लेने के बाद कई देशों में इन्हें लोगों द्वारा अडाप्ट ( Adopt )किया जाता है। अब बात करते हैं ऐसे देश की जो पुलिस बॉर्डर गार्ड और दमकल सेवाओं से रिटायर ( Retire) होने के बाद अपने कुत्तों और घोड़ों के पेंशन देने की योजना बना रहा है ताकि देश की सेवा करने के बाद इन्हें सामाजिक सुरक्षा मिल सके। इस देश का नाम है पोलैंड। यानी पोलैंड ( Poland) में सेवारत कुत्तों को ( Dogs serving in the country) रिटायर होने के बाद सरकारी देखभाल नहीं मिल पाती और उन्हें गैर सरकारी संगठनों या फिर ऐसे लोगों को दिया जाता है जो उन्हों गोद लेना चाहते हैं।


यह भी पढ़ें: इस देश में बच्चे पैदा करने का नहीं दंपतियों को शौक, बच्चों से ज्यादा Pets की हो रही रजिस्ट्रेशन

सुरक्षा बलों/ पुलिस के सदस्यों की अपील पर गृह मंत्रालय ( home Ministry) ने नए कानून का प्रस्ताव रखा है, जिसके तहत इन कुत्तों और घोड़ों को आधिकारिक दर्जा और सेवानिवृत्ति के बाद पेंशन देने की योजना है ताकि इसके नए मालिक उनकी देखभाल पर आने वाले मोटे खर्च से परेशान ना हों। पोलेंड के गृहमंत्री मटरिस कमिन्टी ने प्रस्तावित कानून के मसौदे को नैतिक जिम्मेदारी बताया है, जिसे संसद से आम सहमित मिलनी चाहिए। इस विधेयक को साल के अंत में संसद में पेश होना है।

यह भी पढ़ें: भारत की इस जगह में है एशिया का सबसे बड़ा Red Light Area, दर्द भरी है बच्चियों की कहानी

अन्य देशों की बात करें को रिटायर होने वाले आर्मी के कुत्तों को लोग अडाप्ट कर लेते है और जिन को एडाप्ट नहीं किया जाता उन्हें एक कास एनजीओं को जिया जाता है। ये संस्था उनके आखिरी दिनों में उनकी सेवा करती है। रूस व चीन में भी रिटायर होने के बाद गोली मारने का कानून नहीं है। जापान में रिटायर हो चुके सेना के कुत्तों के अलग हॉस्पिटल होता है । यहां पर कुत्तों के मालिक अपने बीमार कुत्तों को लाकर छोड़ सकते है। यहां पर कुत्तों के लिए बिलकुल इंसानों जैसी सुविधाएं होती है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है