Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

अब मृत महिला से भी हो सकेगा बच्चे का जन्म, जानने के लिए पढे़ं पूरी खबर

मृत महिला का यूटेरस इम्प्लांटेशन कर होगा जन्म

अब मृत महिला से भी हो सकेगा बच्चे का जन्म, जानने के लिए पढे़ं पूरी खबर

- Advertisement -

तकनीक में विस्तार से आजकल कुछ ऐसी चीजें भी देखने को मिल जाती हैं जिनकी हमने कभी कल्पना भी नहीं की हो। कुछ ऐसे ही हैरतअंगेज चीज की जानकारी हम आपको देने जा रहे हैं। जो महिलाएं बांझपन की समस्या से जूझ रही हैं उनको यूटर्स दान लेने के लिए किसी जिन्दा महिला की जरूरत नहीं पड़ेगी। जी हां, क्योंकि अब मृत महिला के गर्भाशय से भी बच्चे का जन्म हो पाएगा। इसके लिए यूट्रस इम्प्लांटेशन (Uterus implantation) की तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:इस शख्स ने खाई दुनिया की सबसे तीखी मिर्च और बना दिया World Record


इस तकनीक से एक मृत महिला का गर्भाशय इम्प्लांटेशन कर दुनिया के पहले बच्चे को जन्म दिया गया है। दरअसल, मृत महिला के गर्भाशय का इम्प्लांटेशन कर एक 45 वर्षीय मानसिक रूप ने 2017 में एक स्वस्थ बच्ची को जन्म दिया गया था। इसके जरिए उन सभी महिलाओं को भी लाभ मिलेगा, जो गर्भाशय की परेशानी से जूझ रही हैं, क्योंकि अब इसके लिए उन्हें किसी जिंदा दानकर्ता की जरूरत नहीं होगी। इस सर्जरी (Surgery) के दौरान मृत दानकर्ता महिला का गर्भाशय निकालकर दूसरी महिला में डाला जाता है। इसके साथ ही दानकर्ता के गर्भाशय को मरीज की नसों व धमनियों, अस्थिबंध और शरीर के निचले हिस्से के साथ भी जोड़ा जाता है।

बता दें कि गर्भाशय देने वाली महिला की स्ट्रोक से मौत हो गई थी। अध्ययन में पाया गया कि 35 हफ्ते और तीन दिन में सीजेरियन तरीके से महिला ने 2.5 किलोग्राम की बच्ची को जन्म दिया। इसके बाद सीजेरियन के दौरान मृत महिला के गर्भाशय को निकाल दिया गया था।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है