Covid-19 Update

2,05,061
मामले (हिमाचल)
2,00,704
मरीज ठीक हुए
3,498
मौत
31,396,300
मामले (भारत)
194,663,924
मामले (दुनिया)
×

नए फरमानों के बाद अब पीले, हरे दिखेंगे पुराने ट्रैक्टर

नए फरमानों के बाद अब पीले, हरे दिखेंगे पुराने ट्रैक्टर

- Advertisement -

ऋषि महाजन/नूरपुर। तुगलकी फरमान ने पहले से आर्थिक तंगी झेल रहे किसानों की मुश्किलें अब और बढ़ा दी हैं। क्योंकि प्रदेश के किसानों को अपने कृषि कार्यों के उपयोग के लिए लाये जाने वाले पुराने ट्रैक्टरों का रंग अब हरा करना पड़ेगा। यही नहीं ट्रैक्टर को खरीदने के लिए 25 कनाल भूमि का प्रमाण पत्र पटवारी व तहसीलदार दोनों के हस्ताक्षर हुए दस्तावेज टैक्सेशन कार्यालय में जमा करवाना होगा। बता दें कि अक्टूबर 2017 में जारी हुए एक सरकारी तुगलकी फरमान के अनुसार प्रदेश के किसानों को अपने पुराने ट्रैक्टरों को हरा और व्यवसायिक श्रेणी वाले ट्रैक्टरों को पीला रंग करवाना होगा, जिसके चलते किसानों को 20 से 25 हजार का अतिरिक्त भार झेलना पड़ेगा।
सरकार के इस अध्यादेश के चलते ट्रैक्टरों का रंग बदलना अनिवार्य किया गया है। किसानों का कहना है यदि ट्रैक्टरों पर पहले ही पीली नंबर प्लेट लगी है तो पूरा रंग पीला करवाने का क्या ओचित्य है। किसानों अनुसार यदि वह ट्रैक्टर को फिर से रंग करवा दें तो रीसेल के दौरान उसकी सही कीमत नहीं मिलेगी। इस पेचीदा स्थिति के चलते लोगों ने ट्रैक्टरों की खरीद के लिए पंजाब का रुख कर लिया है। अब किसान पंजाब से अपने रिश्तेदारों के नाम पर ट्रैक्टरों की खरीद कर रहे हैं, जिससे प्रदेश सरकार को मिलने वाले राजस्व से भी हाथ धोना पड़ रहा है।
भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष सुरेश पठानियां ने कहा कि किसान पहले ही आर्थिक तंगी का शिकार हैं। इस फरमान से किसानों पर भारी आर्थिक बोझ पड़ेगा। इस अध्यादेश को वापस लिया जाना चाहिए। वहीं, ट्रैक्टर की खरीद पर 15 कनाल भूमि का ही प्रावधान रखना चाहिए, ताकि छोटे किसान ट्रैक्टर से वंचित न हों। इस बारे में परिवहन मंत्री गोविंद ठाकुर ने कहा कि सरकार इस संबंध में अपनी नीति बना रही है। अधिसूचना के बारे में मुझे अभी जानकारी नहीं है और यदि ऐसा हुआ है तो इस पर शीघ्र ही पता किया जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है