Covid-19 Update

58,645
मामले (हिमाचल)
57,332
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,111,851
मामले (भारत)
114,541,104
मामले (दुनिया)

जाम की समस्या से निपटना है, तो वन-वे हों ग्रामीण क्षेत्रों के छोटे मार्ग

जाम की समस्या से निपटना है, तो वन-वे हों ग्रामीण क्षेत्रों के छोटे मार्ग

- Advertisement -

one way road : धर्मशाला। नगर निगम धर्मशाला के साथ लगते ग्रामीण क्षेत्रों के छोटे मार्गों को वन-वे किया जाए तो शहर में यातायात जाम की समस्या से निजात मिल सकती है। यह सुझाव नगर निगम धर्मशाला को स्थानीय समाजसेवी संस्था जन चेतना ने दिया है। यही नहीं संस्था ने धर्मशाला में सेंट्रल यूनिवर्सिटी की स्थापना में हो रहे विलंब पर भी नाराजगी जताई है।

शनिवार को संस्था की बैठक अध्यक्ष डॉ. एलएम शर्मा की अध्यक्षता में आयोजित की गई। बैठक में नगर निगम एवं आईपीएच विभाग के एक्सईएन राजेश मोंगरा ने विशेष रूप से शिरकत की। शहर में विकराल हो रही यातायात जाम समस्या पर संस्था सदस्यों ने अपना पक्ष रखते हए कहा कि धर्मशाला शहर के आसपास के जो ग्रामीण क्षेत्र हैं, उनके लिए बने संपर्क मार्गों को वन-वे करके यातायात जाम की समस्या से काफी हद तक निजात मिल सकती है। लेकिन इसके लिए नगर निगम और जिला पुलिस को संयुक्त रूप से प्रयास करने होंगे।

वहीं संस्था ने स्थानीय प्रशासन के प्रति सीयू को लेकर किए जा रहे विलंब पर रोष जताया। संस्था का कहना है कि सीयू की स्थापना में पहले ही काफी विलंब हो चुका है, ऐसे में अब प्रशासन को इस दिशा में शीघ्र कदम उठाते हुए प्रभावी कार्रवाई करनी चाहिए, जिससे राष्ट्रीय स्तर के संस्थान की धर्मशाला में जल्द स्थापना सुनिश्चित हो सके।

one way road : शीघ्र किया जाएगा  अंडरग्राउंड डस्टबिन का शुभारंभ

बैठक में एसएस बैंस, विजय जयकारिया, ओम सिंह, डा. तरलोक जयकारिया, ब्रिगेडियर नसीब सिंह राणा, कर्नल जय गणेश, कर्नल करतार सिंह, मेजर वंशराज कंवर, डॉ. हरपाल सिंह, एसी महाजन सहित अन्य सभा पदाधिकारी उपस्थित रहे। इस बैठक के दौरान नगर निगम के एक्सईएन राजेश मोंगरा ने नगर निगम में होने वाले कार्यों की जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि नगर निगम क्षेत्र में स्ट्रीट लाइटस लगाई जा रही हैं। अंडरग्राउंड डस्टबिन का शुभारंभ शीघ्र किया जाएगा। स्मार्ट गलियों व पार्कों का निर्माण किया जा रहा है और आगे भी किया जाना है। एक्सईएन ने बताया कि शहर में पानी की लीकेज रोकने और सीवरेज प्रणाली को देखते हुए रूट जोन की उपलब्धता करवाने पर जोर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि स्मार्ट सिटी के अधीन सीवरेज प्रणाली को अति आधुनिक व स्वचालित क्रिया में लाने हेतू 8.50 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है।

अब Headmaster लाल, दे डाली आंदोलन की चेतावनी

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है