Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

Live : अवैध खनन पर तपा सदन, नोकझोंक-नारेबाजी के बीच विपक्ष का वाकआउट, वापस भी लौटे

Live : अवैध खनन पर तपा सदन, नोकझोंक-नारेबाजी के बीच विपक्ष का वाकआउट, वापस भी लौटे

- Advertisement -

धर्मशाला। हिमाचल प्रदेश विधानसभा में विपक्ष ने आज एक बार फिर सदन से वाकआउट किया। कांग्रेस ने यह वाकआउट ऊना जिले की स्वां नदी में अवैध खनन के मुद्दे पर किया। विपक्ष के नेता मुकेश अग्निहोत्री (Mukesh Agnihotri) ने प्रश्नकाल के दौरान एक सवाल के माध्यम से स्वां में अवैध खनन का मामला उठाया। अग्निहोत्री का कहना था कि स्वां नदी में अवैध खनन को लेकर अराजकता फैल गई है और खनन का कोई अनुशासन नहीं रह गया है। उन्होंने कहा कि पोकलेन और जेसीबी जैसी बड़ी मशीनें अवैध खनन के लिए स्वां नदी में पहुंची हैं, जबकि ऐसी मशीनों को स्वां में ले जाने की इजाजत नहीं हैं, क्योंकि वहां मशीनों से खनन की इजाजत ही नहीं है।

अग्निहोत्री का यह भी कहना था कि रात के समय खनन की इजाजत नहीं है, लेकिन अब वहां सारी रात खनन हो रहा है और 20-20 टायरों वाले ट्राले नदी से रेता बजरी ढोने में लगे हैं। अग्निहोत्री ने कहा कि उन्होंने यह मामला सीएम तक से उठाया है और स्थानीय लोगों ने डीजीपी और एसपी (DGP and SP) को पत्र लिखे हैं। इसके बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हो रही है। उन्होंने उद्योग मंत्री को उनके साथ स्वां नदी का पैदल दौरा करने की पेशकश की और वहां हो रहे अवैध खनन को रोकने के लिए पुलिस बटालियन तैनात करने की मांग की। उन्होंने स्वां नदी में खनन के लिए दी गई सभी लीज को तुरंत रद्द करने की भी मांग की।


इस पर उद्योग मंत्री बिक्रम ठाकुर (Bikram Thakur) ने कहा कि ऊना जिले में खनन के लिए 91 लीज दी गई है। इनमें से 78 लीज पूर्व कांग्रेस सरकार द्वारा दी गई, जबकि मौजूदा सरकार ने केवल 13 लीज दी है। उन्होंने कहा कि सरकार अवैध खनन को लेकर गंभीर है और बीते दो सालों तक अवैध खनन के 791 मामले दर्ज किए गए हैं। उन्होंने माना कि स्वां में अवैध खनन हो रहा है, लेकिन बीते दो सालों से ही नहीं हो रहा है, बल्कि काफी सालों से यह समस्या बनी हुई है। इसी मुद्दे पर मुकेश अग्निहोत्री सहित कांग्रेस के कुछ सदस्यों द्वारा शोरगुल करने पर सीएम जयराम ठाकुर ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि यदि विपक्ष चाहता है तो सरकार नूरपुर की तर्ज पर स्वां नदी में अवैध खनन रोकने के लिए बटालियन लगाने को तैयार है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस Link पर Click करें

उन्होंने भी माना कि स्वां नदी में अवैध खनन माफिया सक्रिय है और यह माफिया वह सब करता है, जिसकी कानुन इजाजत नहीं देता है। उन्होंने यह भी कहा कि अवैध खनन माफिया दो वर्षों से ही नहीं, बल्कि वर्षों से सक्रिय है। इसी के चलते उद्योग मंत्री ने स्वयं तीन बार स्वां नदी में छापा मारा, जिसका विपक्ष को स्वागत करना चाहिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि खनन माफिया को कतई छूट नहीं दी जाएगी और सरकार इनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी। सीएम ने यह भी कहा कि उन्होंने इस संबंध में पुलिस अधिकारियों से बात की है। सीएम के जवाब से विपक्ष संतुष्ट नहीं हुआ और नारे लगाते हुए सदन से बाहर चला गया।

वाकआउट की निंदा

संसदीय कार्य मंत्री सुरेश भारद्वाज ने बाद में विपक्ष के वाकआउट की निंदा की। उन्होंने कहा कि यह वाकआउट किसी कारण से नहीं, बल्कि विपक्ष ने अपनी हाजिरी लगाने के लिए किया। उन्होंने कहा कि जब सीएम ने जवाब दे दिया था तो वाकआउट का मतलब ही नहीं बनता था। भारद्वाज ने यह भी कहा कि खनन माफिया आज का नहीं, बल्कि कांग्रेस के समय से है और सीएम ने इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है