Covid-19 Update

58,800
मामले (हिमाचल)
57,367
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,137,922
मामले (भारत)
115,172,098
मामले (दुनिया)

विधायक होशियार सिंह पर मानहानि का दावा करेगी संस्था, पुलिस में भी शिकायत

विधायक होशियार सिंह पर मानहानि का दावा करेगी संस्था, पुलिस में भी शिकायत

- Advertisement -

कांगड़ा। देहरा में एनजीओ के साक्षात्कार लेने के दौरान उपजा विवाद उलझता नजर आ रहा है। अब संस्था ने देहरा के विधायक व अन्य तीन लोगों के खिलाफ मानहानि का दावा करने का ऐलान किया है। साथ ही मामले की शिकायत पुलिस में भी कर दी है। यह ऐलान हिमालयन महिला एंव जनकल्याण संस्था के पदाधिकारियों ने यहां मीडिया से बातचीत में किया। संस्था के सहायक प्रबंधक अमरजीत, एमडी अनिल, जिला संयोजक सतीश शर्मा, जिला हमीरपुर के संयोजक डॉ. देसराज चौधरी, अनिल कुमार, मोनिका, नीतू सिपहिया, सपना राणा, समन्वयक सुखदेव ने कहा कि संस्था अपने तय कार्यक्रम के तहत दिशा वर्कर के साक्षात्कार के लिए रैन बसेरा में महिलाओं को एकत्रित कर रही थी, उस वक्त स्थानीय प्रशासन की ओर से उन्हें एसडीएम कार्यालय में उपस्थित होने को कहा गया।

जब वह एसडीएम दफ्तर में अपने कागजात दिखाकर वापस लौटने लगे तो विधायक होशियार सिंह भी पहुंच गए। उनके साथ आए उनके लोगों ने उन्हें ढाई घंटे तक बंदी बनाए रखा। इस बीच एसडीएम चैंबर से उठ गए थे। उन्होंने बताया कि संस्था स्वच्छता को लेकर काम कर रही है। जिसके लिए ग्रामीण महिलाओं को स्वच्छता से जोड़ने के साथ-साथ रोजगार से भी जोड़ा जा रहा है। जिसमें दिशा वर्करों का गठन किया जा रहा है। प्रार्थना पत्र लेने के बाद महिला का साक्षात्कार लेते है और उन्हें नियुक्त करते हैं। उन्होंने विधायक की विधानसभा की सदस्यता रद्द करने की भी मांग की है।

उधर, विधायक होशियार सिंह ने कहा कि कुछ लोगों ने बताया कि यहां पर कोई स्वास्थ्य पर्यवेक्षक का साक्षात्कार चल रहा है। लेकिन, जब उन्होंने इस बारे में एसडीएम देहरा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी धर्मशाला से पता किया तो सभी ने ऐसे कोई सरकारी साक्षात्कार होने से इंकार किया। उन्होंने इसकी पड़ताल करने को एसडीएम को कहा, पड़ताल पर पता चला कि रैन बसेरे में कोई संस्था साक्षात्कार कर रही है। उन्होंने बताया कि एसडीएम दफ्तर में संस्था के पदाधिकारियों को बुलाया गया। वह भी वहां पर पहुंचे। लेकिन कुछ ही देरी में एसडीएम दफ्तर में बीजेपी के पदाधिकारी व युवा मोर्चा की टीम वहां पर पहुंच गई व उल्टा उन्हें ही बंदी बनाकर रखा गया। संस्था प्रशासन को बिना सूचना दिए साक्षात्कार कर रही थी। संस्था महिलाओं के लिए जा रहे डाटे को किस तरह से सुरक्षित रखेगी, इसका संस्था के पास कोई जवाब नहीं था। वह राज्यपाल और सीएम के समक्ष भी इस मामले को उठाएंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है