Monsoon Session: स्वास्थ्य विज्ञान विवि का रास्ता साफ, सदन ने पास किया बिल

Monsoon Session: स्वास्थ्य विज्ञान विवि का रास्ता साफ, सदन ने पास किया बिल

- Advertisement -

कार्यवाही के दौरान भूमि अंतरण (विनियमन) संशोधन विधेयक 2016 वापस लिया

शिमला। विधानसभा के मानसून सत्र के अंतिम दिन प्रश्नकाल के बाद फिर से शुरू हुई कार्यवाही के दौरान सदन में विधायी कार्य निपटाया गया। सदन में आज केवल एक बिल पास किया गया और एक विधेयक वापस लिया गया। सीएम वीरभद्र सिंह आज सदन में हिमाचल प्रदेश भूमि अंतरण (विनियमन) संशोधन विधेयक 2016 को वापस लिया। उधर, स्वास्थ्य मंत्री ठाकुर कौल सिंह ने हिमाचल प्रदेश स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय विधेयक 2017 को सदन में पेश किया। इस बिल पर सदन में आज चर्चा हुई और चर्चा के बाद इसे पास कर दिया गया। इसके अलावा आज की कार्यवाही में रखे गए बिल न पास हुए और न ही कुछ पेश किए गए। इसके बाद आज सदन की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दी गई।


धूमल बोले, इसलिए कर रहा हूं समर्थन

इससे पहले स्वास्थ्य मंत्री ठाकुर कौल सिंह ने हिमाचल प्रदेश स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय विधेयक 2017 को पेश करने के लिए इसे चर्चा और फिर पारित करने के लिए सदन में रखा। नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार धूमल ने कहा कि राज्य में पहले दो मेडिकल कॉलेज थे और तीन नए मेडिकल कॉलेज शुरू हो गए हैं और ऐसे में जब स्वास्थ्य शिक्षा का तेजी से विस्तार हो रहा है तो इसके लिए अलग से विश्वविद्यालय होना जरूरी था। इसलिए ही वे इसका समर्थन कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह ऐतिहासिक बिल होगा और इससे मेडिकल शिक्षा में और सुधार होगा और उस स्तर की शिक्षा होगी, जैसी मिलना चाहिए।

सुरेश भारद्वाज ने कहा कि आईजीएमसी प्रदेश का प्रीमियर संस्थान है और यहां से निकले विद्यार्थी आज देश के नामी संस्थानों में प्रमुख पदों पर बैठे हैं इसे विश्वविद्यालय में तब्दील किया जाए। उन्होंने कहा कि आईजीएमसी को ऑटोनामस संस्थान बनाया जाना चाहिए और सरकार को इसे घोषित कर लेना चाहिए और इस पर कोई खर्चा भी होने वाला नहीं है।  उधर, स्वास्थ्य मंत्री ठाकुर कौल सिंह ने कहा कि  प्रदेश स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय को लेकर बजट में प्रावधान किया गया था। इस विश्वविद्यालय के बनने से गुणवत्तायुक्त शिक्षा मिलेगी।

उन्होंने कहा कि इस विश्वविद्यालय में प्रदेश में खुले सभी सरकारी व निजी मेडिकल कालेज, डेंटल कॉलेज, फार्मेसी कॉलेज और नर्सिंग कॉलेज आएंगे। उन्होंने कहा कि हमीरपुर मेडिकल कॉलेज में अगले वर्ष से कक्षाएं शुरू हो जाएंगी।

चमियाणा में बनाया जा रहा सुपर स्पेशिलिटी ब्लॉक

ठाकुर ने कहा कि इस विश्वविद्यालय का मुख्यालय नेरचौक स्थित लाल बहादुर शात्री ईएसआई मेडिकल कॉलेज में होगा। जहां तक आईजीएमसी की बात है, यहां पर जगह की कमी है और इस कारण चमियाणा में एक हेक्टेयर जगह लेकर वहां पर सुपर स्पेशिलिटी ब्लॉक बनाया जा रहा है।

इस बीच, बीजेपी सदस्य जयराम ठाकुर ने कहा कि ईएसआई मेडिकल कॉलेज में हिमाचल के कम विद्यार्थियों को प्रवेश मिल रहा है और इसके लेकर स्टेट और सेंटर में जो एमओयू हुआ है, उसमें सुधार किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वहां पर सीटें खाली रह रही हैं और इसे हिमाचलियों से भरा जाना चाहिए। उन्होंने एमएमयू मेडिकल कॉलेज का जिक्र करते हुए कहा कि वहां पर फीस ज्यादा है और उसे देखते हुए सरकार को फी स्ट्रक्चर को नए सिर से तय करना चाहिए।

उन्होंने वहां की 150 सीटों में से आधी सीटें ही मैनेजमेंट कोटे में हो और बाकी हिमाचली को मिले। उन्होंने कहा कि हिमाचलियों को इसमें केवल 25 फीसदी सीटें ही दी जा रही हैं, जबकि मिलना आधी सीटें चाहिए। वहीं, नेता प्रतिपक्ष धूमल ने कहा कि राज्य के लोग मांग कर रहे हैं कि एनआरआई की सीटें भरी नहीं जा रही तो इसे शिफ्ट किया जाए और हिमाचली को दी जाए। 

सीटें न भरने पर होंगी शिफ्ट

उधर, स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सुझाव अच्छा है। उन्होंने कहा कि पेड सीट एनआरआई और एनआरआई स्पांसर्ड बाई एनआरआई रखी है। ये सीटें न भरने पर इसे शिफ्ट किया जा रहा है और इसमें हिमाचली को 5 लाख रुपए और गैर हिमाचली को करीब 9 लाख रूपए पर प्रवेश मिलेगा। उन्होंने कहा कि राज्य में डाक्टरों से 650 पद खाली है और अब इन कालेजों में तैयार होने वाले डाक्टरों से खाली पद भरे जाएंगे।  इसके बाद सदन ने ध्वनिमत से इस बिल को पास कर दिया गया।

https://youtu.be/YdvPH9Jlnd4

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

कांगड़ा और ऊना में कार्यरत पंजाब के इन कर्मचारियों को अवकाश घोषित

काम में कौताही पर पंचायत प्रधान और वार्ड सदस्य बर्खास्त

संतोषगढ़ के चौकी प्रभारी लाइन हाजिर, एसपी के आदेशों को हल्के में ले रहे थे

सेल्फी ले रही दो सहेलियां पार्वती नदी में बही, एक बच निकली दूसरी का अता-पता नहीं

शांता क्यों बोले ,जीवन के अंतिम पड़ाव पर मुझे किसी से भी प्रमाण पत्र की जरूरत नहीं

धूमल बोलेः कागजी सवाल करते हैं कांग्रेसी, कागजों में बनती है राजधानी

ऊना में नशा माफियाः अवैध शराब, चरस और प्रतिबंधित दवाओं सहित दो धरे

महिला मौत मामलाः एसएचओ हमीरपुर ने शव ले जा रहे लोगों पर क्यों तानी पिस्टल, होगी जांच

रातों रात सड़क पर कर डाला कब्जा, विभाग ने भेजा नोटिस

शराब की बोतल हाथ में लेकर छात्राओं के सामने टिक टॉक वीडियो बनाता गया कॉलेज कर्मी

मुकेश बोले, धर्मशाला दूसरी राजधानी है,सत्ता में लौटते ही उठाएंगे व्यापक कदम

दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंचे राज्यपाल दत्तात्रेय

टैक्सी चालक हत्या मामले में परिजनों ने मंडी-पठानकोट एनएच पर किया चक्का जाम

पच्छाद उपचुनाव : डैमेज कंट्रोल के लिए खुद प्रचार में उतरे सीएम, बडू साहिब गुरुद्वारे में नवाया शीश

पहले किया हमला फिर लगाई आग, पति-पत्नी की मौत, बेटी गंभीर

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है