×

जागरुकता की मिसाल बने ये गांव, बिना सरकारी मदद खुद को किया Quarantine

जागरुकता की मिसाल बने ये गांव, बिना सरकारी मदद खुद को किया Quarantine

- Advertisement -

चंडीगढ़। देशभर में कई ऐसे शहर और गांव हैं जहां पुलिस प्रशासन लोगों को समझा कर थक गया है कि घर से बाहर निकलने में खतरा है। लेकिन पंजाब (Punjab) के चार गांव ऐसे भी हैं जिन्होंने कोरोना के खिलाफ जंग में खुद मोर्चा संभाल लिया है। कोरोनो वायरस की गांव में एंट्री न हो सके इसलिए गांव वालों ने खुद ही पहरा लगाना शुरू कर दिया है। गांव में कोई बाहर का व्यक्ति आ नहीं सकता। गांव वाला बाहर जा नहीं सकता यानी पूरा का पूरा गांव क्वारंटाइन (Quarantine)। देश में जागरुकता का इससे बड़ा संदेश नहीं हो सकता कि लोगों ने बिना सरकार और पुलिस को कष्ट दिए खुद जागरूक होकर ये निर्णय लिया है।


यह भी पढ़ें: Coronavirus को लेकर आप भी तो नहीं इन गलतफहमियों का शिकार ?

पंजाब के पटियाला के अगेता, फतेहगढ़ साहिब में रंगेड़ा खुर्द, संगरूर में अलीपुर व श्री मुक्तसर साहिब में अकालगढ़ में लोगों ने गांवों को क्वारंटाइन कर लिया है। इस तरह गांव अगेता, रंगेड़ा खुर्द, अलीपुर व अकालगढ़ के लोगों ने कर्फ्यू का पालन नहीं करने वालों को बड़ा संदेश दिया है। कोरोना के खिलाफ जंग लड़ने के लिए ग्रामीणों ने कमर कस ली है और गांव में आने-जाने के सारे रास्ते बंद कर दिए हैं। एंट्री प्वाइंट पर पहरा लगा दिया है जिससे न तो गांव में आ सके और न ही बाहर जा सके।

इन गांवों की पंचायतों ने मुनादी करवा दी है कि गांव के लोग किसी भी रिश्तेदार को अपने यहां न आने दें और न ही वे गांव के बाहर किसी के यहां जाएं। अगेता गांव के रास्तों पर गांव के लोगों ने नाका लगा रखा है। चार-चार घंटे की ड्यूटी ग्रामीण निभा रहे हैं। गांव में भी सन्नाटा पसरा हुआ है। गांव वालों ने खुद ही पैसे इकट्ठा कर गांव को सैनिटाइज करवाया है। इसके बाद गांव को सील किया गया है। गांव में प्रवेश के रास्तों पर लिख दिया गया है गांव में आपका प्रवेश वर्जित है।

अगर गांव के किसी भी व्यक्ति को इमरजेंसी में गांव से बाहर जाना पड़ रहा है तो बाकायदा एंट्री की जाती है कि किस काम से कहां कौन जा रहा है। गांव में अगर किसी को राशन या अन्य वस्तुओं की जरूरत होती है तो बाकायदा उसके घर पर सामान पहुंचाने के लिए कमेटी बनाई गई है जो सामान की सप्लाई करती है। आपात स्थिति में किसी भी मरीज को अस्पताल लेकर जाने के लिए गाड़ी का प्रबंध किया गया है। मास्क, साबुन व सैनिटाइजर की भी व्यवस्था की गई है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है