Covid-19 Update

1,98,877
मामले (हिमाचल)
1,91,041
मरीज ठीक हुए
3,382
मौत
29,548,012
मामले (भारत)
176,842,131
मामले (दुनिया)
×

पाकिस्तान का बॉयकाट एक महीने में पड़ा ठंडा, भारत से मंगाएगा जीवन रक्षक दवाएं

पाकिस्तान का बॉयकाट एक महीने में पड़ा ठंडा, भारत से मंगाएगा जीवन रक्षक दवाएं

- Advertisement -

नई दिल्ली। भारत सरकार (Govt of India) द्वारा जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को कमजोर करने और 35-ए को रद्द करने के बाद से पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान (Pakistan) बौखलाया हुआ है। इसी मसले को लेकर पाकिस्तान में भारतीय सामानों के बॉयकाट का अभियान चलाया गया था वहीं उनकी सरकार ने भारत के साथ सारे व्यापारिक संबंध (trade relations) एक झटके में खत्म कर लिए थे। जिसके महीने भर बाद पाकिस्तान पर इसका असर दिखने लगा है और उसका ये बॉयकाट अभियान ठंडा पड़ता नजर आ रहा है। बताया गया कि पाकिस्तान के इन प्रतिबंधों का कुछ खास असर भारत पर तो नहीं हुआ, लेकिन पाकिस्तान में त्राहिमाम की स्थिति पैदा हो गई।

यह भी पढ़ें- इमरान खान का बड़ा बयान- परमाणु हथियार का पहले इस्तेमाल नहीं करेगा पाकिस्तान

अब जाकर पाकिस्तान को अपनी गलती का एहसास हुआ है और लाचार पाकिस्तान ने अब भारत से दवाएं मंगाने की अनुमति दे दी है। पाकिस्तानी न्यूज चैनल जिओ टीवी के मुताबिक संघीय सरकार ने सोमवार को भारत से जीवन रक्षक दवाओं के आयात को मंजूरी दे दी है, ताकि मरीजों को राहत मिल सके। पाकिस्तान के वाणिज्य मंत्रालय ने वैधानिक नियामक आदेश (Statutory regulatory order) जारी कर अपने यहां की दवा इंडस्ट्री को इंडिया से मेडिसिन (life saving medicines) इंपोर्ट करने की इजाजत दे दी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 2019 में जुलाई तक पाकिस्तान ने भारतीय दवा कंपनियों से 1 अरब 36 करोड़ रुपये की दवाएं मंगाई थी। 5 अगस्त को भारत ने जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद-370 हटाने का फैसला किया तो पाकिस्तान ने भारत से व्यापारिक रिश्ते खत्म कर लिये।


हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है