Covid-19 Update

2,22,569
मामले (हिमाचल)
2,17,256
मरीज ठीक हुए
3,719
मौत
34,161,956
मामले (भारत)
243,966,014
मामले (दुनिया)

पाकिस्तान नहीं करेगा भारत से कपास और चीनी का आयात, कैबिनेट ने नहीं दी मंजूरी

पाकिस्तान नहीं करेगा भारत से कपास और चीनी का आयात, कैबिनेट ने नहीं दी मंजूरी

- Advertisement -

पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान खान सरकार ने एक बार फिर यूटर्न लिया है। पहले पाकिस्तान की आर्थिक समन्वय समिति (Economic co-ordination committee) ने भारत से कपास और चीनी के आयात को लेकर मंजूरी दी तो आज ही पाकिस्तान (Pakistan) की इमरान खान सरकार ने इस फैसले को खारिज कर दिया। अब एक बार फिर पाकिस्तान भारत से कपास और चीनी (Cotton and Sugar) का आयात नहीं करेगा। इसके साथ ही पाकिस्तान की ओर से कहा गया है कि कश्मीर (Kashmir) में पहले जैसी स्थिति जब तक बहाल नहीं की जाएगी भारत के साथ व्यापारिक संबंध नहीं किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें – पाकिस्तानी महिला से शादी नहीं कर पाएंगे इस देश के पुरुष, सरकार ने सख्त किए नियम

आपको बता दें कि बीते रोज पाकिस्तान की आर्थिक समन्वय समिति ने भारत से कपास और चीनी खरीद (Cotton and Sugar) को लेकर मंजूरी दी थी, लेकिन आज पाकिस्तान पीएम इमरान खान की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में भारत से चीनी और कपास आयात करने के सरकारी पैनल के फैसले को खारिज कर दिया गया है। उधर, इस बारे में पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री शिरीन माजरी (Minister Shireen Mazari) ने एक ट्विट भी किया है।

ये भी पढ़ें – मजबूरी! पाकिस्तान फिर भारत से खरीदेगा कपास, चीनी खरीद पर भी चल रहा विचार

पाकिस्तान की मानवाधिकार मंत्री (Human Rights Minister) ने ट्विट कर लिखा कि कैबिनेट स्पष्ट रूप से कहा है कि भारत के साथ व्यापार संबंध तब तक बहाल नहीं किए जाएंगे जब तक वह जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को हटाने का अपना फैसला वापस नहीं ले लेता है। आपको बता दें कि पाकिस्तान (Pakistan) ने जम्मू-कश्मीर से धारा 377 हटाने के विरोध में अगस्त 2019 में भारत के साथ व्यापार बंद कर दिया था।

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है