Covid-19 Update

1,58,472
मामले (हिमाचल)
1,20,661
मरीज ठीक हुए
2282
मौत
24,684,077
मामले (भारत)
163,215,601
मामले (दुनिया)
×

Kashmir में चल रहे प्रतिबंधित Pakistani और Saudi चैनल

Kashmir में चल रहे प्रतिबंधित Pakistani और Saudi चैनल

- Advertisement -

pakistani saudi channels: श्रीनगर। पाकिस्तान के टीवी चैनल अब सीधी कश्मीरियों के घर पहुंच गए है। घाटी में  हिंसा और पत्थरबाजों को लिए उकसाने में ये बहुत बड़ी भूमिका निभा रहे हैं। कश्मीर में केबल नेटवर्क पर पाकिस्तान और सऊदी अरब के  50 से ज्यादा चैनल चल रहे हैं और इनमें से कई चैनल तो प्रतिबंधित हैं और इन  चैनलों में विवादित इस्लामिक उपदेश जाकिर नाइक का चैनल पीस टीवी भी शामिल है। इन चैनलों में कश्मीर के लोगों को सुरक्षाबलों पर पथराव करने और भारत के विरुद्ध नारेबाजी करने के लिए उकसाया जा रहा है। इनको चैनलों को चलाने की इजाजत भी नहीं ली है। इनमें से ज्यादातर चैनल भारत विरोधी प्रचार चला रहे हैं।


pakistani saudi channels: प्राइवेट केबल को प्राथमिकता देते हैं लोग

कश्मीर में सेटेलाइट सर्विस प्रोवाइडर्स डिश टीवी, टाटा स्काई, एयरटेल डिजिटल टीवी के होने के बावजूद ज्यादातर लोग प्राइवेट केबल को प्राथमिकता देते हैं। एक केबल ऑपरेटर के अनुसार श्रीनगर में ही 50हजार से ज्यादा केबल कनेक्शन हैं जो पाकिस्तानी और सऊदी चैनल का प्रसारण करते हैं। प्राइवेट केबल वाले पीस टीवी के अलावा सऊदी सुन्नाह, सऊदी कुरान, अल अरेबिया, पैगाम, हिदायत, नूर, मदानी, सहर, कर्बला, अहलीबात, फलक, जियो न्यूज, डॉन न्यूज जैसे पाकिस्तानी और सऊदी चैनल भी चलाते हैं। हालांकि इन चैनलों पर रोक लगाई गई है। इनमें से कोई भी चैनल देश के बाकी किसी भी हिस्सों में नहीं दिखाए जाते हैं। यह चैनल युवाओं को कट्टर बनाते हैं, उनमें हिंसा की भावना पैदा करते हैं और आतंकवाद को बढ़ावा देते हैं।


एक कारोबारी ने बताया कि कश्मीर के लोग पाकिस्तान के न्यूज चैनल और सीरियल्स पसंद करते हैं। 

यह भी पढ़ें – J&K में सेना का बड़ा Search Operation, 20 गांवों की घेराबंदी

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है