Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

कश्मीर पर बयानबाजी मलेशिया को पड़ी भारी, अब भारत से बातचीत को बेताब

कश्मीर पर बयानबाजी मलेशिया को पड़ी भारी, अब भारत से बातचीत को बेताब

- Advertisement -

नई दिल्ली। पाकिस्तान (Pakistan) के साथ दोस्ती रखना और जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) मामले में बयान देने का अंजाम अब मलेशिया को भुगतना पड़ रहा है। खबर है कि भारत ने मलेशिया (Malaysia) से पाम ऑइल (Palm Oil) के आयात में कटौती कर दी है। इससे मेलशिया में पाम आयल की कीमतें 11 साल के अब तक के सबसे निचले स्तर पर आ गई हैं। मलेशिया को आगामी नुकसान का आभास हो चुका है ऐसे में अब उसके पास भारत से बातचीत ही आखिरी विकल्प बचता है।

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में 10 बच्चों की रहस्यमयी बीमारी से गई जान

बता दें, मलेशिया पाम ऑयल का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश है। ऐसे में मलेशिया अगले हफ्ते दावोस में होने वाली वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम की मीटिंग से मलेशिया के वाणिज्य मंत्री डारेल लेइकिंग भारतीय समकक्ष पीयूष गोयल से मुलाकात कर बातचीत कर सकते हैं। पीयूष गोयल का कहना है कि सरकार ने मलेशिया के खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया है। भारत भी यही चाहता है कि मलेशिया से रिश्ते अच्छे बने रहें क्योंकि भारत के लगभग 10 लाख लोग वहां काम करते हैं। साथ ही भारत सालाना 90 लाख टन पाम ऑयल आयात करता है। जिसमें ज्यादातर आयात इंडोनेशिया और मलेशिया से किया जाता है। गौर हो मलेशिया धारा 370 और CAA- NRC जैसे मुद्दों को लेकर भारत का विरोध करता रहा है। इसके अलावा इन मुद्दों को मलेशिया अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर भी ले जा चुका है।

हिमाचल की ताजा अपडेट Live देखनें के लिए Subscribe करें आपका अपना हिमाचल अभी अभी YouTube Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है