Covid-19 Update

2,05,017
मामले (हिमाचल)
2,00,571
मरीज ठीक हुए
3,497
मौत
31,341,507
मामले (भारत)
194,260,305
मामले (दुनिया)
×

सास-बहू की लड़ाई में मां का साथ दिया तो पंचों ने पेड़ से बांधा, Police ने करवाया आजाद

सास-बहू की लड़ाई में मां का साथ दिया तो पंचों ने पेड़ से बांधा, Police ने करवाया आजाद

- Advertisement -

Jaisalmer : जैसलमेर। सास-बहू की लड़ाई एक बेटा ऐसा फंसा कि उसे भारी सजा भुगतनी पड़ी। उसका कसूर सिर्फ इतना था कि उसने अपनी मां का पक्ष लिया। इस बात के लिए युवक को पंचों ने अजीबोगरीब सजा सुनाई। मामला है जैसलमेर जिले में पोकरण क्षेत्र के भणियाणा उपखंड मुख्यालय से मात्र 5 किलोमीटर दूर स्थित गांव खींवसर का। धन्ना राम पुत्र तुलछाराम जाट की पत्नी और मां में कोई झगड़ा हो गया तो धन्ना राम ने मां का पक्ष लिया।

इस पर पत्नी के मायके से आए पंचों और गांव के कुछ दबंगों ने तुगलकी फरमान जारी करते हुए उसे सात दिन तक कड़ी धूप में पेड़ से पैरों में लोहे की जंजीर बांधकर ताला लगा दिया और रोज दो चांटे मारने की सजा भी दी, साथ ही पड़ोसियों को पंचों ने फरमान सुनाया कि जब तक हम हुक्म नहीं दे तब तक इसको कोई नहीं खोलेगा। अगर कोई ऐसा करता है तो उसको समाज से बहिष्कृत कर दिया जाएगा। हालांकि अब धन्ना राम को इन जंजीरों से आजादी मिल गई है। भणियाणा पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जंजीरों से जकड़े धन्नाराम को मुक्त करवाया और पोकरण थाने ले आई है।


रिश्तेदारों ने पूछताछ में बताया मानसिक रोगी, जांच में निकला स्वस्थ

पूछताछ के दौरान परिवार के लोगों ने धन्ना राम को मानसिक रोगी बताया था, जिसके बाद उसकी अस्पताल में जांच करवाई गई, लेकिन जांच में वह एकदम सही पाया गया। मारपीट के दौरान घायल हुए धन्ना राम का उपचार पोकरण अस्पताल में करवाया गया, जहां पीड़ित ने पंचों और रिश्तेदारों द्वारा किए गए अत्याचार के बारे में पुलिस और डॉक्टर को बताया। पुलिस ने इस मामले में पंचों व रिश्तेदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। धन्नाराम के बयानों के बाद चाचा प्रतापाराम और उनके पुत्र धूड़ाराम व अपने ससुराल वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

बूढ़ी मां की सेवा को लेकर चल रहा था विवाद

जानकारी के अनुसार कुछ समय से धन्ना राम और उनकी पत्नी गंगा के बीच बूढ़ी मां की सेवा को लेकर विवाद चल रहा था। धन्ना राम अपनी बुजर्ग मां को साथ रखना चाहता था, लेकिन उसकी पत्नी उसे साथ नहीं रखना चाहती। इसको लेकर इन दोनों के बीच कहासुनी होती रहती थी। इसी बात को लेकर कुछ कहासुनी हुई तो पत्नी ने अपने पीहर बुड़किया, देचू के पंचों और कुछ स्थानीय पंचों को फोन कर बुला लिया। इसके बाद उन्होंने कानून कायदों को ताक पर रख कर युवक को सात दिन तक कड़ी धूप में बांधकर उसी की पत्नी को बोल दिया कि रोज सुबह शाम चाटे मारते रहना अपने आप सुधर जाएगा।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है