Covid-19 Update

2,00,282
मामले (हिमाचल)
1,93,850
मरीज ठीक हुए
3,423
मौत
29,881,965
मामले (भारत)
178,960,779
मामले (दुनिया)
×

Attacking सुखराम : Virbhadra Blackmailer, मेरे घर पर रखवाए थे पैसे

Attacking सुखराम : Virbhadra Blackmailer, मेरे घर पर रखवाए थे पैसे

- Advertisement -

कहा, अपने फायदे के लिए दूसरों का करते हैं इस्तेमाल

मंडी। पूर्व केंद्रीय मंत्री पंडित सुखराम ने सीएम वीरभद्र सिंह पर बड़ा हमला बोला है। सुखराम ने वीरभद्र सिंह को उत्तर भारत का सबसे बड़ा ब्लैकमेलर करार दिया है। उन्होंने मंडी स्थित अपने निवास पर पत्रकार वार्ता के दौरान कहा कि उनके घर पर पैसे रखवाने वाला कोई और नहीं बल्कि वीरभद्र सिंह थे। कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी में आने के बाद सुखराम पहली बार पत्रकारों से रू-ब-रू हुए। उन्होंने कहा कि वह कभी आया राम, गया राम नहीं रहे, बल्कि उन्हें पार्टी से निकाला गया था और अब भी उन्होंने मजबूरी में कांग्रेस को छोड़कर बीजेपी का दामन थामा है।

सुखराम ने कहा कि वीरभद्र सिंह ने हमेशा दूसरों का इस्तेमाल अपने लाभ के लिए किया है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2012 में वीरभद्र सिंह ने कौल सिंह ठाकुर को अध्यक्ष पद की कुर्सी से हटाने के लिए एनसीपी में जाने की धमकी पार्टी हाईकमान को दी। उसके बाद हाईकमान ने उन्हें कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष की कुर्सी पर बैठाया। सुखराम ने कहा कि वीरभद्र सिंह जिस प्रकार से अपने फायदे के लिए पार्टी हाईकमान को ब्लैकमेल करते रहे हैं , उस मामले में वह उत्तर भारत के सबसे बड़े ब्लैकमेलर हैं।


पार्टी फंड कह कर रखवाए थे घर पर पैसे

वहीं पंडित सुखराम ने वर्ष 1996 में उनके घर छापेमारी के दौरान मिले पैसों के पीछे भी वीरभद्र सिंह की साजिश बताया। सुखराम ने कहा कि कांग्रेस के तत्कालीन कोषाध्यक्ष सीता राम केसरी को वीरभद्र सिंह ने पैसों के साथ उनके घर भेजा था और यह कहकर पैसे रखवाए थे कि यह पार्टी फंड है, लेकिन बाद में छापा डलवाकर उनके खिलाफ साजिश रची, जबकि वह उस वक्त विदेश में थे और उन्हें दिल्ली एयरपोर्ट से ही गिरफ्तार कर लिया गया था। सुखराम ने कहा कि आजकल वीरभद्र सिंह खुद इस प्रकार के मामलों में फंसे हुए हैं। पंडित सुखराम ने दावा किया कि अब वह बीजेपी के साथ हैं और कंधे से कंधा मिलाकर पार्टी के लिए काम करेंगे। उन्होंने कहा कि उनके सभी समर्थक कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो गए हैं।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है