Covid-19 Update

58,598
मामले (हिमाचल)
57,311
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,096,731
मामले (भारत)
114,379,825
मामले (दुनिया)

पराशर हादसाः ओवरलोडिंग ने छीनी सांसें, 10 की क्षमता वाले वाहन में थे 17 लोग

पराशर हादसाः ओवरलोडिंग ने छीनी सांसें, 10 की क्षमता वाले वाहन में थे 17 लोग

- Advertisement -

मंडी। बंजार बस हादसे के बाद बसों में ओवरलोडिंग (Overloading) से निपटने के लिए रोजाना बस चालकों (Bus Driver) व परिचालकों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। रोजाना बसों में यात्री न बैठाने को लेकर नोंक झोंक व बहसबाजी भी हो रही है, लेकिन प्रदेश सरकार छोटे वाहनों में हो रही ओवरलोडिंग की तरफ ध्यान नहीं दे रही है। पराशर हादसे (Prashar acident) में भी दुर्घटनाग्रस्त वाहन ओवरलोड था। चांदी कूटने के लिए दस लोगों की क्षमता वाले वाहन में बच्चों समेत 17 लोग ठूंसे गए थे। हादसे ने 10 वर्षीय बच्चे और 45 वर्षीय महिला की जान ले ली। ऐसे में प्रदेश सरकार के ओवरलोडिंग से निपटने के अभियान पर भी सवाल उठ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: पराशर के पास खाई में गिरी गाड़ी: बच्चे व महिला की मौत

दुर्घटनाग्रस्त टैंपो ट्रेक्स की आरसी में साफ हो रहा है कि वाहन की यात्री क्षमता 10 थी, जबकि पुलिस के अनुसार इस वाहन में बच्चों समेत कुल 17 लोग सवार थे। बंजार हादसे (Banjar Accident) के बाद एक बार फिर से दुर्घटनाग्रस्त वाहन में ओवरलोडिंग जगजाहिर हुई है। प्रदेश सरकार की लाख कोशिशें ओवरलोडिंग को रोक नहीं पा रही हैं। बसों में ओवरलोडिंग कुछ हद तक कम हुई है, लेकिन छोटे वाहनों में भेड़ बकरियों की तरह ठूंसे जा रहे लोग नियमों को सीधे तौर पर धत्ता दिखा रहे हैं।

यह भी पढ़ें: मनाली-लेह को लग्जरी बस शुरू, किराए में रात ठहराव के साथ मिलेगा डिन्नर व नाश्ता

सीएम के गृह जिला के धार्मिक पर्यटन स्थल पराशर के लिए बस सेवा भी नाममात्र है। ऐसे में पर्यटकों व श्रद्धालुओं को टैक्सी का सहारा लेना पड़ता है। चांदी कमाने के चक्कर में टैक्सी ऑपरेटर (Taxi operator) भी ओवरलोडिंग करते हैं। एसपी मंडी गुरदेव शर्मा ने कहा कि वाहन में बच्चों के साथ 17 लोग सवार थे। उन्होंने माना कि वाहन ओवरलोड था। उन्होंने कहा कि शुरूआती जांच में चालक की लापरवाही पाई है। आरोपी चालक के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया गया है। मामले में छानबीन जारी है।


…अचानक पीछे की ओर चल पड़ी गाड़ी और खाई में जा गिरी

पराशर सड़क हादसे (Parasher Road accident) में दुर्घटना के कारण साफ हो गए हैं। पुलिस जांच (Police Investigation) में सामने आ आया है कि चालक (Driver) गाड़ी को साइड में खड़ी कर पेशाब करने के लिए उतरा था। इस बीच गाड़ी अचानक पीछे की तरफ चलना शुरू हो गई।

चालक तब तक कुछ कर पाता इस बीच गाड़ी खाई में जा गिरी। हादसे में दो लोगों की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि बच्चे ने गियर को न्यूटल में कर दिया, जिससे गाड़ी पीछे की तरफ चलना शुरू हो गई। ऐेसे में गाड़ी में लगी हैंडब्रेक को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं। हालांकि पुलिस जांच में सभी तथ्य साफ होंगे, लेकिन शुरूआती जांच में हादसे का कारण दिल दहला देने वाला है। चालक की छोटी सी लापरवाही दो जानें लील गई है। जबकि कई घायलों का अस्पताल में उपचार चल रहा है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है