Covid-19 Update

56,874
मामले (हिमाचल)
55,278
मरीज ठीक हुए
953
मौत
10,558,710
मामले (भारत)
94,959,015
मामले (दुनिया)

शिक्षा मंत्री के गृह जिला में सड़कों पर उतरे अभिभावक, Private School की मनमानी पर किया प्रदर्शन

निजी स्कूल द्वारा अतिरिक्त शुल्क की मांग करने को लेकर अभिभावकों ने की जमकर नारेबाजी

शिक्षा मंत्री के गृह जिला में सड़कों पर उतरे अभिभावक, Private School की मनमानी पर किया प्रदर्शन

- Advertisement -

कुल्लू। निजी स्कूलों (Private Schools) की मनमानी के खिलाफ आज शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर (Education Minister Govind Singh Thakur) के गृह जिला कुल्लू (Kullu) में अभिभावकों ने धरना प्रदर्शन किया। यह प्रदर्शन निजी शिक्षण संस्थान ट्रिनिटी स्कूल के बाहर किया गया। प्रदर्शन से पहले अभिभावकों ने स्कूल प्रबंधन से बातचीत की। जिसमें कंम्पयूटर, लाईब्रेरी, बिल्डिंग, स्पोटर्स फंड लेने पर नाराजगी जाहिर की। काफी समय तक चली वार्ता में निजी स्कूल प्रबंधन सरकार की गाइडलाइन और हाईकोर्ट (High Court) की गाइडलाइन का हवाला देता रहा। वार्ता बेनतीजा रहने के बाद गुस्साए अभिभावकों ने स्कूल परिसर के बाहर निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की। अभिभावकों ने निजी स्कूल प्रबंधन पर जबरन अतिरिक्त शुल्क वसूलने का आरोप लगाया और सरकार से मामले में कड़ी कार्रवाई कर हस्तक्षेप करने की मांग की।

यह भी पढ़ें: #Shimla: निजी स्कूलों की मनमानी पर छात्र अभिभावक मंच ने किया शिक्षा निदेशालय का घेराव

 

अभिभावकों ने बताया कि पिछले 8 माह से वो अपने बच्चें की टयूशन फीस (Tuition fees) लगातार दे रही हैं, लेकिन अब स्कूल प्रबंधन की तरफ उन्हें अतिरिक्त शुल्क के साथ पैसे डिपोजिट करने के लिए बार.बार फोन व मैसेज भेजे जा रहे हैं। जिससे अभिभावक परेशान होकर विरोध प्रदर्शन् (Protest) करने पर मजबूर है। उन्होंने कहा कि स्कूल प्रबंधन कंम्पयूटर, लाईब्रेरी, बिल्डिंग, स्पोटर्स फंड वसूल रहे है। कोरोना काल में सभी अभिभावक स्कूल की भारी भरकम शुल्क चुकाने में अस्मर्थ हैं ऐसे में सकरार को अभिभावको के बारे में सोचना चाहिए। वहीं शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह ठाकुर ने बताया कि कोरोना काल में इस बार अलग सी परिस्थिति बनी हुई है। कोरोना काल में निजी शिक्षण संस्थानों को अतिरिक्त शुल्क नहीं लेना चाहिए। यह मेरा व्यक्तिगत मत और सरकार का पक्ष है। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग के अधिकारी शिमला में निजी शिक्षण संस्थानों से बातचीत कर हल निकालने का प्रयास कर रहे हैं।

 

शिमला में छात्र -अभिभावक मंच ने किया शिक्षा निदेशालय का घेराव

शिमला में निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ शिमला में छात्र-अभिभावक मंच (Student-parent forum) लगातार आंदोलनरत है। छात्र -अभिभावक मंच ने एक बार फिर से निजी स्कूलों की मनमानी फीस (Fees) वसूली के खिलाफ शिमला (Shimla) में शिक्षा निदेशालय का घेराव कर नारेबाजी की और चेताया है कि अगर शिक्षा विभाग ने निजी स्कूलों पर लगाम नहीं लगाई तो भविष्य में आंदोलन को और उग्र किया जाएगा। अभिभावक मंच ने कोरोना काल में केवल ट्यूशन फीस ही लेने की मांग की है जबकि अन्य शुल्क में अभिभावकों को राहत देने की बात कही है। छात्र-अभिभावक मंच के संयोजक विजेंद्र मेहरा ने कहा है कि मंगलवार को शिक्षा निदेशालय की तरफ से एक अधिसूचना निकाली गई है, जिसमें निजी स्कूलों में पीटीए के गठन की बात कही गई है, जो फीस को तय करेगी। जबकि स्कूलों में 2020 में किसी भी स्कूल में पीटीए (PTA) का गठन नहीं किया गया है और अगर पीटीए का गठन हो भी जाता है तो उसमें केवल निजी स्कूल के चहेते ही होते हैं ,जो निजी स्कूलों के हक में ही निर्णय लेते हैं।  इसलिए सरकार निजी स्कूलों की मनमानी पर रोक लगाकर अभिभावकों से केवल ट्यूशन फीस लेने के निर्देश जारी  किए जाए।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है