×

परशुराम भवन बनाने को ONE रुपए लीज पर दो land

परशुराम भवन बनाने को ONE रुपए लीज पर दो land

- Advertisement -

धर्मशाला। सीएम वीरभद्र सिंह ने प्रदेश के सभी उपायुक्तों को निर्देश दिए है कि वे ज़िलास्तर पर परशुराम भवन के निर्माण के लिए ब्राह्मण समुदाय को एक रुपए की लीज़ पर जमीन आबंटित करवाए। उपलब्ध करवाई जाने वाली जमीन का चयन संबंधित समुदाय के सदस्यों द्वारा किया जाएगा। उन्होंने अधिकारियों को प्रदेश के बड़े मंदिरों में पुस्तकालय स्थापित करने के भी निर्देश दिए, ताकि अनुसंधानकर्ताओं को इन पुस्तकालयों से लाभ मिल सके। इस तरह के पुस्तकालय पहले ही संस्कृति कॉलेज व अकादमियों में है।


  • सीएम वीरभद्र सिंह ने सभी उपायुक्तों को जारी किए निर्देश
  • सीएम ने की ब्राह्मण कल्याण बोर्ड की बैठक अध्यक्षता
  • कहा, बड़े मंदिरों में स्थापित किए जाएं पुस्तकालय

सीएम शुक्रवार को धर्मशाला में ब्राह्मण कल्याण बोर्ड की बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। उन्होंने कहा कि संस्कृत एक प्राचीन और समृद्ध भाषा है और प्रतियोगी युग में अधिक अंक लाने वाला एक विषय है। उन्होंने सदस्यों की मांग पर आश्वासन दिया कि संस्कृत भाषा को राज्य के सरकारी वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला स्तर पर आरम्भ करने की उनकी मांग पर सहानुभूतिपूर्वक विचार किया जाएगा।

शिक्षा, धर्म व व्यवहारिक जानकारी के सम्प्रेक्षण में ब्राह्मण समुदाय के प्रयासों की सराहना करते हुए सीएम ने कहा कि इस समुदाय का समाज को शिक्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका रही है। समुदाय आज भी जीवन के प्रत्येक स्तर पर अग्रणी है। राज्य सरकार ने प्रत्येक समुदाय के कल्याण को सुनिश्चित बनाने के लिए विभिन्न बोर्डों का गठन किया है। प्रदेश सरकार ने निर्णय लिया है कि इन कल्याणकारी बोर्डों की बैठकों में सदस्यों द्वारा प्रस्तुत सुझाव पर उपयुक्त निर्णय लिए जाएंगे। सीएम ने इस अवसर पर ‘साधारण में असाधारण’ शीर्षक पुस्तक का विमोचन भी किया, जो कांगड़ा ज़िला के बैजनाथ क्षेत्र से संबंधित पूर्व मंत्री पंडित संतराम पर आधारित है। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री तथा बोर्ड के उपाध्यक्ष डॉ. धनीराम शांडिल ने कहा कि प्रदेश सरकार समाज के सभी वर्गों के कल्याण के प्रति वचनबद्ध है। उन्होंने गैर-सरकारी सदस्यों को उनकी समस्याओं के प्रति सचेत रहने को कहा, ताकि उनका निवारण सुनिश्चित बनाया जा सके। शहरी विकास मंत्री सुधीर शर्मा ने कहा कि सभी सदस्यों को उनकी मांगों को सुझाव सहित तैयार करना चाहिए, ताकि सार्थक निर्णय सामने आ सके।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है