- Advertisement -

अब ये अंशकालिक, दिहाड़ीदार कर्मी 60 साल में ही होंगे Retire, सरकार ने जारी की अधिसूचना

10 मई 2001 से पहले  अंशकालिक और दिहाड़ी पर लगे सैकड़ों कर्मचारियों को सौगात

0

- Advertisement -

लोकिन्दर बेक्टा, शिमला। प्रदेश में अंशकालिक और दिहाड़ी पर लगे सैकड़ों कर्मचारियों को राज्य की जयराम ठाकुर सरकार ने बड़ी सौगात दी है। अब 10 मई 2001 से पहले अंशकालिक/दिहाड़ीदार के रूप में नियुक्त कर्मचारी भी 60 की उम्र में ही रिटायर होंगे। सरकार ने  इन कर्मियों की रिटायरमेंट आयु सीमा को दो वर्ष बढ़ाकर 60 वर्ष कर दिया है। इसके लिए सरकार ने नियमों में संशोधन किया और आज अधिसूचना जारी कर दी गई। प्रदेश के सरकारी विभागों में अंशकालिक/दिहाड़ीदार कर्मचारियों के रूप में भर्ती होने के बाद चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के पद पर नियमित होने पर इनकी रिटायरमेंट की उम्र बढ़ाने को लेकर सरकार ने राज्य में लागू फंडामेंटल रूल्ज के रुल-56 के क्लाज ई में संशोधन किया है।  प्रदेश में सरकारी सेवा में नियुक्त होने वाले कर्मचारियों को अंशकालिक/दिहाड़ीदार के रूप में भर्ती करती रही हैं।

पहले अंशकालिक कर्मचारियों को नियमित करने की नहीं थी नीति

वैसे पहले अंशकालिक कर्मचारियों को नियमित करने की नीति नहीं थी, लेकिन प्रदेश में लगातार बढ़ती इन कर्मचारियों की संख्या को देखते हुए पूर्व बीजेपी सरकार के वक्त इन्हें दैनिक भोगी बनाने का निर्णय हुआ था। इसके बाद राज्य की पूर्व कांग्रेस सरकार ने इन्हें नियमित करने का फैसला लिया। अब जयराम ठाकुर सरकार ने इन कर्मचारियों की सेवानिवृत्ति की उम्र 58 वर्ष से बढ़ाकर 60 वर्ष करने का फैसला लिया। यह फैसला 10 मई 2001 से पहले अंशकालिक/दिहाड़ीदार के रूप में नियुक्त कर्मचारियों पर लागू होगा।
अतिरिक्त मुख्य सचिव (वित्त) डॉ. श्रीकांत बाल्दी ने इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी है। राज्य सरकार ने यह अधिसूचना कोर्ट के फैसलों को ध्यान में रखकर जारी की है। पार्ट टाइम कर्मी लंबे समय से यह मांग कर रहे थे कि उन्हें भी दैनिक वेतनभोगी कर्मियों की तरह ही 60 वर्ष की उम्र में सेवानिवृत्ति दी जाए।
गौर हो कि राज्य में 10 मई 2001 से पहले तैनात और इस तिथि के बाद नियमित तमाम दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को 60 साल की उम्र में रिटायर किया जाता रहा है। अब 10 मई 2001 से पहले अंशकालिक/दिहाड़ीदार के रूप में नियुक्त कर्मचारी भी 60 की उम्र में ही रिटायर होंगे। लेकिन, जो कर्मचारी अंशकालिक/दिहाड़ीदार के तौर पर 10 मई 2001 के बाद नियुक्त हुए हैं, वे नियमित होने पर 58 साल की उम्र में ही सेवानिवृत्त होंगे।

- Advertisement -

Leave A Reply