×

Passport वेरिफिकेशनः स्टाफ की कमी, फिर भी कांगड़ा पुलिस Number One

Passport वेरिफिकेशनः स्टाफ की कमी, फिर भी कांगड़ा पुलिस Number One

- Advertisement -

Passport Verification : धर्मशाला। प्रदेश भर में पासपोर्ट वेरिफिकेशन निपटान मामले में जिला कांगड़ा पुलिस नंबर वन पर शूमार हो गई है। कांगड़ा पुलिस ने पासपोर्ट वेरिफकेशन के मामलों का सात दिनों में निपटान सुनिश्चित किया है। हालांकि जिला में स्टाफ की कमी है, इसके बावजूद जिला पुलिस ने आम जनता के प्रति अपनी प्रतिबद्धता को साबित करते हुए पासपोर्ट वेरिफिकेशन के कार्य को एक सप्ताह के भीतर निपटाना सुनिश्चित बनाया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला पुलिस ने पासपोर्ट वेरिफिकेशन के 40 हजार मामलों का निपटान किया है। विदेश में नौकरी व पढ़ाई के लिए जाने के लिए कई युवा पासपोर्ट के लिए अप्लाई करते हैं, लेकिन पुलिस वेरिफिकेशन में विलंब के चलते कई बार युवाओं को खासी परेशानी का सामना करना पड़ता था। गौरतलब है कि पूर्व में धर्मशाला में पासपोर्ट ऑफिस संचालित किया जाता था, जिसे बाद में बंद कर दिया गया था। इसके बाद पासपोर्ट के लिए युवाओं को शिमला के चक्कर काटने पड़ते थे।


  • पासपोर्ट वेरिफकेशन के मामलों का सात दिनों में निपटान किया सुनिश्चित

युवाओं को पासपोर्ट के लिए शिमला के चक्कर न काटने पड़ें, इसके लिए संसदीय क्षेत्र के सांसद शांता की पहल पर पालमपुर में पासपोर्ट आफिस शुरू हो चुका है, इससे कांगड़ा, चंबा के युवाओं को काफी राहत मिली है। दूसरी समस्या पासपोर्ट बनवाने के दौरान पुलिस वेरिफिकेशन की आती थी, जिसमें भी काफी समय लग जाता था। एसपी जिला कांगड़ा संजीव गांधी के प्रयासों से पासपोर्ट के लिए पुलिस वेरिफिकेशन का निपटान जल्दी सुनिश्चित हो पाया है। पूर्व में कई युवा लंबे समय तक पुलिस वेरिफिकेशन का इंतजार करते थे। समय पर पुलिस वेरिफिकेशन न होने पाने के कारण कई युवा पूर्व में विदेश में नौकरी और पढ़ाई का मौका भी गवा चुके हैं। लेकिन एसपी कांगड़ा ने अब युवाओं के दर्द को समझते हुए पासपोर्ट के लिए पुलिस वेरिफिकेशन का निपटान सात दिन के भीतर सुनिश्चित किया है।

इस बारे में एसपी कांगड़ा संजीव गांधी ने बताया कि प्रदेश भर में पासपोर्ट वेरिफिकेशन के निपटान के मामले में जिला कांगड़ा अग्रणी बन गया है। जिला पुलिस ने पासपोर्ट वेरिफिकेशन निपटान को सात दिनों के भीतर सुनिश्चित किया है। इस वर्ष अब तक जिला पुलिस ऐसे 40 हजार मामलों का निपटान कर चुकी है। कम स्टाफ के बावजूद पुलिस आम आदमी के प्रति प्रतिबद्धता से काम कर रही है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है