Covid-19 Update

58,598
मामले (हिमाचल)
57,311
मरीज ठीक हुए
982
मौत
11,096,731
मामले (भारत)
114,379,825
मामले (दुनिया)

सुन लें सारे… सिरे चढ़ी कवायद तो डिपुओं में मिलेंगे Patanjali Products

सुन लें सारे… सिरे चढ़ी कवायद तो डिपुओं में मिलेंगे Patanjali Products

- Advertisement -

शिमला। सरकार उपभोक्ताओं को सस्ते राशन के साथ अब खाद्य, नागरिक आपूर्ति विभाग व निगम द्वारा संचालित उचित मूल्यों की दुकानों के माध्यम से बहुप्रचलित पतंजलि उत्पाद उपलब्ध करवाने पर विचार कर रही है। इन उत्पादों में विशेष रूप से खाद्य वस्तुएं, पेय उत्पाद, शर्बत, मसाले, होम-केयर, जूस, करियाने का सामान, तेल, दालें व सिरप आदि उपभोक्ताओं को उनके घर-द्वार के समीप उपलब्ध करवाने के प्रयास किए जाएंगे।

खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामले मंत्री किशन कपूर ने आज यहां पतंजलि आयुर्वेद सीमित के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि पतंजलि के उत्पादों में प्रदेश के लोगों की विश्वसनीयता और मांग को देखते हुए इन उत्पादों को उपभोक्ताओं को सरकारी डिपुओं के माध्यम से उपलब्ध करवाया जाएगा।

कपूर ने कहा कि पतंजलि सैकड़ों उपभोक्ता उत्पाद तैयार कर रही है और प्रयास किए जाएंगे कि दैनिक जीवन में अधिक उपयोग में लाए जाने वाले उत्पादों को उचित मूल्यों की दुकानों के माध्यम से लोगों को उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने कहा कि चरणबद्ध ढंग से राज्य में कार्यरत सभी उचित मूल्यों की दुकानों में ये उत्पाद उपभोक्ताओं को उपलब्ध करवाएं जाएंगे।

उन्होंने कहा कि बाजार में खाद्य वस्तुओं विशेषकर दाल, चावल व आटे की दरों में उतार-चढ़ाव के कारण मंडियों का समुचित अध्ययन करने के उपरांत इनकी निविदाएं हर महीने की जाएंगी। उन्होंने नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारियों को इस संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश देते हुए कहा कि फरवरी माह के अंत तक पतंजलि उत्पादों की उपलब्धता को व्यवहार्य बनाने के लिए सभी औपचारिकताएं शीघ्र पूर्ण की जाएं।

उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को उपलब्ध करवाई जाने वाली प्रत्येक वस्तु अथवा खाद्यान्न की गुणवत्ता को लेकर किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जा सकता और इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए।  हिप्र राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंध निदेशक एसएस गुलेरिया ने पतंजलि उत्पादों की खरीद के संबंध में किए जा रहे प्रयासों बारे मंत्री को अवगत करवाया। बैठक में राज्य नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारी व पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है