Covid-19 Update

2,18,202
मामले (हिमाचल)
2,12,736
मरीज ठीक हुए
3,650
मौत
33,650,778
मामले (भारत)
232,110,407
मामले (दुनिया)

हद है! 10 फीट के मगरमच्छ को मारकर खा गए लोग; ग्रामीणों में बांट दिए टुकड़े

हद है! 10 फीट के मगरमच्छ को मारकर खा गए लोग; ग्रामीणों में बांट दिए टुकड़े

- Advertisement -

नई दिल्ली। देश भर में जहां जीव सुरक्षा को लेकर तरह-तरह के दावे किए जा रहे हैं, बड़े-बड़े विमर्श हो रहे हैं, लेकिन अगर धरातल पर निगाह डाले तो हमें मालूम पड़ता है कि ये सब केवल छलावा है। दरअसल ओडिशा (Odisha) के मलकानगिरी जिले से एक बेहद ही अमानवीय घटना सामने आई है। यहां स्थित कलडापल्ली गांव के लोगों ने ना केवल एक मगरमच्छ (crocodile) को पकड़ा, बल्कि उसे बड़ी ही बेरहमी से मारकर खा भी गए। वहीं जब इस पूरे मामले की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल होने लगीं, तब जाकर प्रशासन और वन विभाग (Forest department) ने इस मामले की सुध ली। बताया गया कि अब वन विभाग के अधिकारी मगरमच्छ मारकर खाने वाले लोगों की तलाश में जुट गए हैं। मामले की जांच के लिए वन विभाग ने तीन टीमों का गठन किया है।

अक्सर गांव में घुस आता था मगरमच्छ

बतौर रिपोर्ट्स, कलडापल्ली गांव के पोडिया ब्लॉक के पास साबेरी नदी है। यहां कुछ ग्रामीणों ने एक 10 फीट लंबा मगरमच्छ पकड़ा और उसे रस्सी से बांधकर गांव के अंदर ले आए। इसके बाद धारदार हथियार से लोगों ने मगरमच्छ को मार डाला और उसे पेड़ से उल्टा टांग दिया। मगरमच्छ को पकड़ने वाले लोग यहीं नहीं रुके। उन्होंने पहले मगरमच्छ के पंजे काटे और फिर उसके छोटे- छोटे कई टुकड़े किए और उन्हें गांव वालों को बांट दिया। बताया जा रहा है कि शिकार करने वालों ने मगरमच्छ को इसलिए मारा क्योंकि वह बार- बार गांव में घुस आता था और उनके गाय- बकरियों को खा जाता था।

यही नहीं, कई बार तो मगरमच्छ ने ग्रामीणों पर हमला तक किया। इस बारे में जानकारी देते हुए मलकानगिरी के जिला वन अधिकारी प्रदीप मिरासे ने बताया कि कलदापल्ली गांव में लोगों के मगरमच्छ खाने की सूचना मिली। हमारे रेंज ऑफिसर ने गांव में छानबीन की पर कोई सुराख नहीं मिला। हमने 3 टीमों का गठन किया है जो सस्पेक्टेड लोगों को पकड़ेगी। जांच में जो भी सामने आएगा उस हिसाब से एक्शन लेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है