Covid-19 Update

2,06,027
मामले (हिमाचल)
2,01,270
मरीज ठीक हुए
3,505
मौत
31,653,380
मामले (भारत)
198,295,012
मामले (दुनिया)
×

एमसी धर्मशाला के मर्ज क्षेत्र के लोगों को एक साल और मिली हाउस टैक्स में छूट

नगर निगम की बैठक में लिया फैसला, तीन माह का दुकानदारों का किराया भी होगा माफ

एमसी धर्मशाला के मर्ज क्षेत्र के लोगों को एक साल और मिली हाउस टैक्स में छूट

- Advertisement -

धर्मशाला। नगर निगम धर्मशाला (Municipal Corporation Dharamshala) के मर्ज क्षेत्र के लोगों को एक साल और हाउस टैक्स (House Tax) में छूट मिल गई है। मंगलवार को आयोजित नगर निगम की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लेते हुए यह प्रस्ताव पारित किया गया। साथ ही पुराने शहर के लोगों को भी कोरोना (Corona) के चलते तीन माह मईए जून व जुलाई का हाउस टैक्स माफ करने के साथ दुकानदारों को इस अवधि का किराया माफ किया गया है। यह सभी निर्णय नगर निगम की पहली ऑफलाइन आमसभा की बैठक में लिए गए हैं। हालांकि नगर निगम की दो आम सभाओं की बैठकें वर्चुअली हो चुकी हैं, लेकिन यह पहली ऑफलाइन बैठक थी। बैठक की अध्यक्षता मेयर ओंकार सिंह नैहरिया ने की। निगम की आमसभा ने श्हर में बढ़ते अतिक्रमण (Encroachment) के खिलाफ भी कार्रवाई करने का निर्णय लिया है।

यह भी पढ़ें: सीएम जयराम के निर्देशः अवैध खनन करने वालों पर हो कड़ी कार्रवाई

इस मामले में सभी पार्षदों ने कार्रवाई किए जाने को लेकर सहमति जाहिर की है, ताकि अतिक्रमण के चलते सिकुड़ रहे शहर में भविष्य में कोई अतिक्रमण ना करे और सभी शहरियों में निगम की ओर से की जाने वाली कार्रवाई का डर भी बना रहे। इसके अलावा निगम ने डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्र किए जाने की मुहिम को भी रफ्तार देने का फैसला लिया है। कोरोना कर्फ्यू के चलते डोर-टू-डोर कूड़ा एकत्र (door-to-door garbage collection) किए जाने की मुहिम भी प्रभावित हुई थी और कर्फ्यू हटने के बाद बढ़ते पर्यटकों की संख्या के साथ ज्यादा कूड़ा निकलने के कारण समस्या को गहराते देख इस ओर कदम बढ़ाने का फैसला लिया गया है। वहीं, मुख्यमंत्री शहरी आजीविका योजना के तहत पिछले तीन माह से जॉब कार्ड धारकों को भुगतान ना करने का मुद्दा भी बैठक में उठा और इस पर भी निर्णय हुआ कि जल्द धनराशि का भुगतान किया जाए। इस मामले को लेकर पूर्व डिप्टी मेयर एवं रामनगर के पार्षद देवेंद्र जग्गी ने अपनी तल्खी भी आमसभा में अधिकारियों को दिखाई। जिस पर सभी पार्षदों ने भी उनका पक्ष लिया और उन्होंने भी अपने-अपने वार्ड में लोगों को धनराशि का भुगतान ना होने पर सवाल खड़े किए।


 

 

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है