Covid-19 Update

2, 85, 014
मामले (हिमाचल)
2, 80, 820
मरीज ठीक हुए
4117*
मौत
43,142,192
मामले (भारत)
529,039,594
मामले (दुनिया)

होली ऑफर के नाम लूटने की कोशिश, बड़े फ्रॉड से बचने के लिए सरकार ने किया अलर्ट

गृहमंत्रालय के अधीन ट्विटर हैंडल साइबर दोस्त ने कई ट्वीट कर लोगों को सचेत रहने के दिए संदेश

होली ऑफर के नाम लूटने की कोशिश, बड़े फ्रॉड से बचने के लिए सरकार ने किया अलर्ट

- Advertisement -

नई दिल्ली। आज के जमाने में हर हाथ में मोबाइल (Mobile) है। मोबाइल के जरिए लेनदेन अब आसान हो गया है, लेकिन त्योहारों के नाम पर साइबर फ्रॉड (Cyber Fraud) के मामले भी बढ़ रहे हैं। इनको सरकार ने अलर्ट जारी किया है। गृह मंत्रालय के अधीन ट्विटर हैंडल साइबर दोस्त (Twitter Handle Cyber Friend) ने इसे लेकर कई ट्वीट किए हैं।

यह भी पढ़ें- होली पर रहें अलर्टः कैशबैक ऑफर्स के नाम पर हो रही है धोखाधड़ी

साइबर सुरक्षित होली मनाने का संदेश

साइबर दोस्त ने ट्वीट करते हुए कहा कि ‘एक खुश और साइबर सुरक्षित होली’ का त्योहार मनाएं। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अनवेरीफाइड पोस्ट या न्यूज शेयर या फॉरवर्ड न करें। सावधान रहें और साइबर सेफ (Cyber Safe) रहें। एक अन्य ट्वीट में साइबर दोस्त ने कहा है कि सोशल मीडिया (Social Media) पर यूपीआई एप के जरिये भुगतान का ऑफर करने वाले डिस्काउंट कूपन, कैशबैक और फेस्टिवल कूपन से संबंधित विभिन्न छलपूर्ण आकर्षक विज्ञापनों से सावधान, सतर्क रहें और साइबर सुरक्षित रहें।

ऐसे लोगों को जाल में फंसाते हैं जालसाज

आपको बता दें कि आजकल जालसाज की तरह के लुभावने ऑफर्स (Offers) देकर लोगों को अपने जाल में फंसाते हैं। वह लोगों को तरह-तरह के कैश की लालच देकर एक लिंक भेजते हैं। इस लिंक के जरिए वह आपको लॉटरी या कैशबैक भेजने के लिए आपसे पिन की मांग करते हैं। आप जैसे इस लिंक पर पिन डालते हैं तो वह आपके अकाउंट से सारे पैसे उड़ा लेते हैं। ऐसे में इस तरह के किसी लिंक (Link) को ओपन न करें और जल्द से जल्द इसे डिलीट कर दें।

पर्सनल जानकारी न करें शेयर

कई बार साइबर अपराधी आपको अलग-अलग ऑफर्स के नाम पर लोगों को कॉल करते हैं। इसके बाद वह उनसे उनके बैंकिंग डिटेल्स, यूपीआई पिन आदि जानकारी ले लेते हैं। इसके बाद वह आपके अकाउंट को खाली कर देते हैं। ऐसे में आप इस तरह किसी कॉल (Call) के झांसे में न आए और आपने बैंकिंग डिटेल्स किसी हालत में शेयर न करें।

जानिए क्या कहते हैं आंकड़े

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक देश में वित्त वर्ष 2020.21 के दौरान इंटरनेट बैंकिंग धोखाधड़ी (Internet Banking Fraud) से जुड़ी 69818 मामले सामने आए थे। वहीं, इसके पहले वित्त वर्ष 2019.20 में 73552 फ्रॉड के मामले सामने आए थे। रिजर्व बैंक (Reserve Bank) की तरफ से जारी किए गए इन आंकड़ों में यूपीआई, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड से भी जुड़े मामले शामिल हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है