Expand

PM मोदी के लिए छोड़ा अन्न-जल

PM मोदी के लिए छोड़ा अन्न-जल

- Advertisement -

कुल्लू। एक तरफ जहां नोटबंदी को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी विरोधियों के निशाने पर हैं, दूसरी तरफ लोग उनके लिए अन्न-जल त्यागकर उनकी लंबी उम्र की कामना कर रहे हैं। कुल्लू के कुटी आगे गांव में आज कुछ ऐसा ही देखने को मिला। पीएम मोदी के भाषण से भावुक होकर लोगों ने आज उनकी दीघ्र आयु के लिए व्रत रखा। आज इस गांव में किसी भी घर में चूल्हा नहीं जला और न ही गांव के लोगों ने अन्न-जल ग्रहण किया।

  • कुल्लू के कुटी आगे गांव के लोगों ने रखा सामूहिक व्रत
  • व्रत कर नरेंद्र मोदी की लंबी उम्र के लिए मानी कामना

बता दें कि हाल ही में पीएम मोदी ने एक भाषण में अपनी जान को खतरा बताया था और उन्होंने कहा था कि नोटबंदी के इस निर्णय के बाद कालाधन रखने वाले उन्हें मरवा सकते हैं। इसी भाषण से गांव के लोग भावुक हो गए और उन्होंने सामूहिक निर्णय लेकर सोमवार को मोदी की लंबी उम्र के लिए व्रत रखने का निर्णय लिया। लोगों ने अन्न-जल त्याग दिया और दिनभर न तो खाना खाया और न ही पानी की बूंद हल्क से उतारी। इसके चलते आज सोमवार दिनभर गांव के लोगों के kullu1घरों के न तो चूल्हे जले और न ही खाना खाया।

गांव के खुशाल सिंह गुलेरिया ने बताया कि गांव के लोगों ने विकास के लिए मां भागासिद्ध कल्याण सभा नाम की एक कमेटी बनाई है। इसके तमाम सदस्यों ने सामूहिक रूप से फैसला लिया है कि सोमवार को वे सभी व्रत रखेंगे। व्रत करने वालों में प्रधान कार्तिक कुमार, सचिव भारत कुमार, कोषाध्यक्ष अभनंदन, मोहन सिंह गुलेरिया, बाल कृष्ण, आशीष कुमार, विशाल जसरोटिया, विरेंद्र कुमार, कृष्ण कुमार, धर्मपाल, विक्रम पाल और अजय कंपर आदि शामिल रहे।

जिला मुख्यालय कुल्लू से करीब 10 किलोमीटर दूर भुंतर कस्बे के साथ सटे कुटी आगे गांव में करीब 15 परिवार रहते हैं, जो नरेंद्र मोदी के नोट बंदी के फैसले को लेकर खुश है। पीएम द्वारा अपने भाषण में यह कहने पर कि उनकी जान को खतरा है इसको लेकर गांव के लोग भावुक हो गए हैं। ऐसे में गांव के लोगों ने सामूहिक निणर्य लिया है कि वे उनकी लंबी आयु के लिए सोमवार दिनभर व्रत करेंगे और अन्न-जल ग्रहण नहीं करेंगे।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Google+ Join us on Google+ Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

RELATED NEWS

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है