Covid-19 Update

2,05,499
मामले (हिमाचल)
2,01,026
मरीज ठीक हुए
3,504
मौत
31,571,295
मामले (भारत)
197,365,402
मामले (दुनिया)
×

घरों-दुकानों में घुसा बारिश का पानी तो प्रशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग

ऊना में लोगों ने घरों के बाहर गुजारी रात, प्रशासन को दी चेतावनी

घरों-दुकानों में घुसा बारिश का पानी तो प्रशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरे लोग

- Advertisement -

ऊना। प्रदेश भर में देर शाम से बारिश हो रही है। बारिश के चलते कई जगहों पर जलभराव हुआ है। ऊना जिला में देर रात से हो रही भारी बारिश (Heavy Rain) के चलते हजारों लोग बुरी तरह प्रभावित हो रहे हैं। कई स्थानों पर जलभराव की समस्या होने के चलते लोग मुसीबतों से गिर गए हैं। कई स्थानों पर जलभराव से जूझ रहे लोगों ने चक्का जाम कर प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। चक्का जाम की स्थिति से निपटने के लिए पुलिस वालों ने मौके पर पहुंचकर स्थिति संभाली। लोगों का आरोप है कि सड़कों की अपग्रेडेशन के दौरान उन्हें ऊंचा तो कर दिया गया लेकिन सड़कों के किसी भी छोर पर ड्रेनेज की व्यवस्था (Drainage System) ना होने के कारण आज वे मुसीबत में फंस गए हैं। इस दौरान लोगों ने प्रदेश सरकार और जिला प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

यह भी पढ़ें: हिमाचल में हादसाः चंबा -भरमौर मार्ग पर रावी में समाई कार,पति-पत्नी व बेटा थे सवार


 

जाहिर है जिला भर में रविवार देर रात से जारी ने लोगों को मुसीबत में डाला है। हालत यह है कि कई स्थानों पर जलभराव (Water Logging) की समस्या से लोगों को रात भर से घरों से बाहर रहना है। इतना ही नहीं कई स्थानों पर व्यापारिक प्रतिष्ठानों में भी पानी घुसने से लोग भारी नुकसान झेलने को मजबूर हुए हैं। जिला मुख्यालय के महिला थाना परिसर में भी जलभराव की समस्या से पुलिस कर्मचारी पानी की नाकेबंदी करते नजर आए। जिला के मनोहर मार्केट और झंवर में जलभराव की समस्या से लोग खासे परेशानी में पड़ गए। दोनों स्थानों पर लोगों को प्रशासन तक अपनी बात पहुंचाने के लिए चक्का जाम करने का फैसला लेना पड़ा।

यह भी पढ़ें:  चंड़ीगढ- मनाली एनएच भूस्खलन के चलते हुआ बंदः पहाड़ी से गिर रहा मलबा, पर्यटक भी फंसे

जलभराव की समस्या से जूझ रहे लोगों ने सरकार और प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इतना ही नहीं जलभराव की समस्या के साथ लोगों को सांपों की भी समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। चक्का जाम से निपटने के लिए पुलिस दल को मौके पर पहुंचना पड़ा। ग्रामीणों का आरोप है कि लोक निर्माण विभाग द्वारा सड़कों को बनाते या उन्हें अपग्रेड करते वक्त ना तो स्थानीय लोगों को विश्वास में लिया जाता है और ना ही भविष्य में उन्हें होने वाली समस्या को लेकर कोई भी नीति निर्माण किया जाता है। उन्होंने कहा सालों से यहां रह रहे लोगों को सड़कों के ऊंचा होने से जलभराव की समस्या से दो चार होना पड़ रहा है लेकिन पीडब्ल्यूडी विभाग के द्वारा सड़कों के दोनों छोर पर ड्रेनेज नहीं बनाई जा सकी है। लोगों ने चेतावनी दी है कि यदि अब भी विभाग के कानों पर जूं तक नहीं रेंगी तो उन्हें डीसी ऑफिस का घेराव करने पर मजबूर होना होगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए Subscribe करें हिमाचल अभी अभी का Telegram Channel…

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है