Covid-19 Update

58,877
मामले (हिमाचल)
57,386
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

NGT का डंडा : Shimla के लोगों का उड़ा चैन, नींद गायब, TCP office के लग रहे चक्कर

NGT का डंडा : Shimla के लोगों का उड़ा चैन, नींद गायब, TCP office के लग रहे चक्कर

- Advertisement -

नगर निगम की मासिक बैठक में मामला उठाने की तैयारी

शिमला। एक तो एनजीटी का डंडा, ऊपर से टीसीपी कार्यालय के चक्कर पे चक्कर। शिमला में लोगों को अब न तो दिन में चैन है और न रात को नींद। शिमला शहर में नए भवनों के निर्माण और शहर को लेकर एनजीटी द्वारा दिए गए फैसले के बाद यहां लोगों में अपने प्लाटों और निर्माणाधीन भवनों को लेकर असमंजस बन गया है।

  • रिव्यू पिटीशन दायर करने को लेकर पास किया जाएगा प्रस्ताव

लोगों को समझ नहीं आ रहा कि अब आगे क्या होगा और वह नगर निगम और टीसीपी कार्यालय के चक्कर काटकर वस्तुस्थिति को जानने का प्रयास कर रहे हैं क्योंकि कई लोगों ने प्लांट ले रखे हैं और निर्माण की तैयारी में है, जबकि कईयों ने निर्माण चला रखा है। वहीं कुछ लोग प्लाट खरीद कर भी बैठे हैं। वे एनजीटी के आदेश से उन पर पड़ने वाले असर की जानकारी ले रहे हैं।

उधर, नगर निगम की आम मासिक बैठक में भी यह मामला उठने जा रहा है। नगर निगम शहरवासियों की दिक्कत को लेकर इस प्रस्ताव को हाउस में ला रहा है और वहां से इस संबंध में एक प्रस्ताव पारित होने वाला है। 29 नवंबर को होने वाली नगर निगम की बैठक में इस मामले पर विस्तार से चर्चा होगी और एनजीटी के आदेशों के खिलाफ आगे रिव्यू पिटीशन दायर करने की मांग को लेकर प्रस्ताव पास किया जा सकता है। इस बैठक में नगर निगम पार्षद इस फैसले की खिलाफत कर सकते हैं और यदि ऐसा हुआ तो नगर निगम भी शहर के लोगों में उठ रही खिलाफत की आवाज में खुद को शामिल करेगा। कई पार्षद कह चुके हैं कि इस मामले को लेकर सरकार को ऊंची अदालत में जाना चाहिए।

नगर निगम की मेयर कुसुम सदरेट के मुताबिक बुधवार को होने वाली नगर निगम की मासिक बैठक में एनजीटी के आदेशों पर चर्चा की जाएगी। इस संबंध में प्रस्ताव लाया जाएगा और उसमें विस्तार से चर्चा के बाद शहरवासियों के हितों को लेकर फैसला लिया जाएगा, साथ ही प्रस्ताव पारित कर आगामी कार्रवाई के लिए सरकार को भेजा जाएगा। इसमें इस फैसले के खिलाफ रिव्यू पिटीशन दायर करने की मांग की जाएगी।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है