Covid-19 Update

57,257
मामले (हिमाचल)
55,919
मरीज ठीक हुए
961
मौत
10,689,202
मामले (भारत)
100,486,817
मामले (दुनिया)

दिल, पेट और आंखों आदि के लिए फायदेमंद आलू-बुख़ारा

दिल, पेट और आंखों आदि के लिए फायदेमंद आलू-बुख़ारा

- Advertisement -

अलूचा या प्लम एक पर्णपाती वृक्ष का फल है । फल, लीची के बराबर या कुछ बड़ा होता है और छिलका नरम तथा साधरणत: गाढ़े बैंगनी रंग का होता है। गूदा पीला और खटमिट्ठे स्वाद का होता है। भारत में इसकी खेती बहुत कम होती है; परंतु अमरीका आदि देशों में यह महत्वपूर्ण फल है। आलूबुखारा (प्रूनस बुखारेंसिस) भी एक प्रकार का अलूचा है, जिसकी खेती बहुधा अफगानिस्तान में होती है। आलू बुख़ारा एक गुठलीदार फल है। आलू बुख़ारे लाल, काले, पीले और कभी-कभी हरे रंग के होते हैं। आलू बुख़ारे का ज़ायका मीठा या खट्टा होता है । आलूबुखारा विटामिन ए, के, कैल्शियम, मैग्नीशियम, फोस्फोरस, कॉपर, आयरन, पोटेशियम और फाइबर का बहुत अच्छा स्त्रोत है। इसका सेवन दिल, पेट और आंखों आदि के लिए बहुत फायदेमंद होता है।

इसके सेवन से हाई ब्लछड़ प्रेशर, स्ट्रो्क आदि का खतरा कम हो जाता है और शरीर में आयरन की मात्रा बढ़ती है। आलूबुखारे में कई तरह के विटामिन और मिनरल पाए जाने के कारण यह हमारे शरीर के आवश्यकक विटामिन और मिनरल की पूर्ति करता है। इसमें कार्बोहाइड्रेट की अधिक तथा कैलोरी और फैट की मात्रा बहुत कम होती है। इसमें कई तरह के पोषक तत्व।, मिनरल और विटामिन पाये जाते हैं। आलूबुखारा विटामिन ए, के, सी कैल्शियम, मैग्नीशियम, फोस्फोरस, कॉपर, आयरन, पोटेशियम और फाइबर का बहुत अच्छा स्रोत है।

कई तरह की बीमारियों से करता है सुरक्षा

आलूबुखारा में भरपूर मात्रा में मौजूद एंटीऑक्सीसडेंट शरीर की रोग प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ता है और शरीर को कई तरह की बीमारियों से सुरक्षा प्रदान करता है। इस फल में नियासिन, राइबोफ्लेविन और थायमिन जैसे तत्व भी पाये जाते हैं।आलूबुखारा में भरपूर मात्रा में फाइबर होता है। इससे पाचन क्रिया दुरुस्तप रहती है। इसमें फैट की मात्रा कम होने के कारण इसके सेवन से फैट नहीं बढ़ता है । वजन कम करने वाले लोगों के लिए यह बहुत फायदेमंद होता है।

इसमें मौजूद विटामिन ‘के’ दिल दुरुस्त रखता है। इसके सेवन से रक्त में थक्कें नहीं जमते, ब्लाड प्रेशर ठीक रहता है। आलूबुखारा में पौटेशियम भरपूर मात्रा में होता है जिससे हार्ट अटैक आदि पड़ने का खतरा समाप्तद हो जाता है। इसके अलावा इसमें भरपूर मात्रा में ओमेगा 3 की मौजूदगी दिल को स्वपस्थर बनाती है। आलूबुखारे में मौजूद विटामिन सी इम्यू निटी को बढ़ाता है और शरीर को स्वूस्थो रखता है।

आलूबुखारा एक एंटी-कैंसर एजेंट हैं जो कैंसर और ट्यूमर की कोशिकाओं को बढ़ने से रोकता है। इसके सेवन से फेफड़ों और मुंह का कैंसर नहीं होता है। आलूबुखारा में घुलनशील फाइबर होते हैं। इसके सेवन से शरीर में कोलेस्ट्रॉकल नियंत्रित रहता है।जिससे मोटापा कम होने के साथ ही कोलेस्ट्रॉ ल को भी कम करने में मदद करता है।

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Top : News

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

राशिफल

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष


HP : Board


सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है