Covid-19 Update

1,99,467
मामले (हिमाचल)
1,92,819
मरीज ठीक हुए
3,404
मौत
29,685,946
मामले (भारत)
177,559,790
मामले (दुनिया)
×

पीएम मोदी की अपील: सिंगल यूज प्‍लास्टिक को अब अलविदा कहे दुनिया

पीएम मोदी की अपील: सिंगल यूज प्‍लास्टिक को अब अलविदा कहे दुनिया

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के नोएडा (Noida) में आयोजित संयुक्त राष्ट्र के कॉन्फ्रेंस ऑफ द पार्टीज (COP 14) यानी कॉप के 14वें अधिवेशन को संबोधित करते हुए पूरी दुनिया से सिंगल यूज प्‍लास्टिक का इस्तेमाल ना करने की अपील की है। इसी के साथ पीएम कहा कि भारत के संस्कारों में धरती पवित्र है, हर सुबह जमीन पर पैर रखने से पहले हम धरती से माफी मांगते हैं। आज दुनिया में लोगों को क्लाइमेट चेंज के मसले पर नकारात्मक सोच का सामना करना पड़ रहा है। इसकी वजह से समुद्रों का जल स्तर बढ़ रहा है, बारिश, बाढ़ और तूफान हर जगह इसका असर देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़ें :-आजम के गढ़ ‘रामपुर’ में धारा 144 लागू, अखिलेश यादव ने स्थगित किया दौरा

उन्होंने आगे कहा कि प्‍लास्टिक का कचरा भी मरुस्‍थलीकरण को बढ़ा रहा है। प्‍लास्टिक का कचरा न केवल स्‍वास्‍थ्‍य का प्रभावित कर रहा है, यह धरती की उर्वरता के लिए भी समस्‍याएं पैदा कर रहा है। हमारी सरकार ने घोषणा की है कि वह आने वाले कुछ वर्षों के भीतर सिंगल यूज प्‍लास्टिक का प्रचलन खत्‍म कर देगी। हम पर्यावरण अनुकूल विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। हम प्‍लास्टिक के कचरे के निस्‍तारण पर काम कर रहे हैं। हमें उम्‍मीद है कि आने वाले वक्‍त में हम सिंगल यूज प्‍लास्टिक (single use plastic) को अलविदा कह देंगे। दुनिया के लिए भी सिंगल यूज प्लास्टिक को अलविदा कहने का समय आ गया है।


इस दौरान पीएम मोदी ने ऐलान किया कि भारत आने वाले समय में बंजर जमीन को उपजाऊ बनाने की ओर कदम बढ़ा रहा है, भारत 21 मिलियन हेक्टेयर्स से लेकर 26 मिलियन हेक्टयर्स बंजर भूमि को 2030 तक उपजाऊ करेगा। हमें यह बताते हुए खुशी हो रही है कि भारत में साल 2015 से साल 2017 के बीच वनीकरण में 0.8 मिलियन हेक्‍टेयर का इजाफा हुआ है। पीएम मोदी ने कहा कि हमें जमीन को मरुस्‍थलीकरण से बचाने के लिए जल संरक्षण पर भी ध्‍यान देना होगा। हमें इस बात पर ध्‍यान देना होगा कि धरती के मरुस्‍थलीकरण से हमारा सतत विकास भी प्रभावित होता है। भारत की संस्‍कृति में धरती, जल, वायु और पर्यावरण के संरक्षण की संकल्‍पना मौजूद है।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें ….

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है