Covid-19 Update

58,877
मामले (हिमाचल)
57,386
मरीज ठीक हुए
983
मौत
11,156,748
मामले (भारत)
115,765,405
मामले (दुनिया)

युवाओं को #PM_Modi ने दिया मंत्रः जो चुनौतियों से लड़ता है, वही सफल होता है

पंडित दीनदयाल उपाध्याय पेट्रोलियम विवि का 8 वां दीक्षांत समारोह

युवाओं को #PM_Modi ने दिया मंत्रः जो चुनौतियों से लड़ता है, वही सफल होता है

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ( @narendramodi)ने युवाओं से अपील की है कि वे अपने अंदर विश्वास को हमेशा बनाए रखें। समस्याओं के बजाय अपने उद्देश्यों पर फोकस रहें। पीएम मोदी ने युवाओं से कहा कि वे चुनौतियों से घबराएं नहीं बल्कि उसे स्वीकार करें। जो चुनौतियों से लड़ता है. वही सफल होता है। बदलाव चाहे खुद में करना हो, या दुनिया में करना हो, वो कभी एक दिन, एक हफ्ते या एक साल में नहीं होता। बदलाव के लिए थोड़ा-थोड़ा प्रयास नियमित करना होता। नियमित होकर किए गए छोटे-छोटे काम बड़ा बदलाव ला सकते हैं। 21वीं सदी का जो युवा है, उसको एक Clean Slate के साथ आगे बढ़ना होगा। कुछ लोगों के मन में ये जो पत्थर की लकीर बनी हुई है, कि कुछ बदलेगा नहीं, उस लकीर को Clean करना होगा। और Clean Heart… Clean Heart मतलब साफ नीयत। गति और प्रगति अनिवार्य है, साथ साथ हमें भावी पीढी के लिए प्रकृति और पर्यावरण की रक्षा करना भी उतना ही आवश्यक है।

यह भी पढ़ें :- #Nagrota हमले पर बोले #PMModi -सुरक्षाबलों ने बहादुरी से नापाक साजिश के किया नाकाम

पंडित दीनदयाल उपाध्याय पेट्रोलियम विश्वविद्यालय गांधीनगर के 8 वें दीक्षांत समारोह (PDPU Convocation 2020) को वर्चुअली संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि जिम्मेदारी की भावना व्यक्ति के जीवन में अवसर की भावना को जन्म देती है। बोझ की भावना से जीने वाले लोग विफल हैं। आज, हम देश के कार्बन पदचिह्न को 30-35% तक कम करने के लक्ष्य के साथ आगे बढ़ रहे हैं। इस दशक में ऊर्जा जरूरतों के लिए प्राकृतिक गैस के उपयोग को 4 गुना बढ़ाने के प्रयास जारी हैं। आज, आप ऐसे समय में उद्योग में प्रवेश कर रहे हैं जब महामारी के कारण दुनिया के ऊर्जा क्षेत्र में बड़े बदलाव हो रहे हैं। इस समय, उद्यमिता और रोजगार के विकास के कई अवसर हैं।पीएम मोदी ने कहा कि ऊर्जा के सेक्टर में पेट्रोलियम पर निर्भरता को नकारा नहीं जा सकता है। आज देश के सामने ऊर्जा जरूरतों को पूरा करने के लिए हम बाहरी मुल्कों पर निर्भर हैं। ऐसी सूरत में हमें ऐसे विकल्पों पर विचार करना होगा ताकि बाहरी मुल्कों पर निर्भरता में कमी आए। इसके साथ ही इनोवेशन के जरिए हमें पेट्रोलियम उत्पादों को और बेहतर करना होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि इस यूनिवर्सिटी से निकले प्रोफेशनल्स ने पेट्रोलियम सेक्टर का अपना विस्तार किया है। इस विश्वविद्यालय की प्रगति देखकर मैं गुजरात सरकार को अनुरोध करता हूं कि कानून में बदलाव करके इसका नाम पेट्रोलियम यूनिवर्सिटी के बजाय एनर्जी यूनिवर्सिटी कर दिया जाए। यह मेरा सुझाव है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए like करे हिमाचल अभी अभी का facebook page 

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है