Covid-19 Update

2,18,314
मामले (हिमाचल)
2,12,899
मरीज ठीक हुए
3,653
मौत
33,678,119
मामले (भारत)
232,488,605
मामले (दुनिया)

#MannKiBaat : देश के युवाओं से बोले पीएम मोदी – भारत में भी बनाएं Games

#MannKiBaat : देश के युवाओं से बोले पीएम मोदी – भारत में भी बनाएं Games

- Advertisement -

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने आज रेडियो कार्यक्रम मन की बात (#MannKiBaat) के जरिये देश को संबोधित किया। पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना काल में नागरिकों में अपने दायित्वों का एहसास है। देश में हो रहे हर आयोजन में जिस तरह का संयम और सादगी इस बार देखी जा रही है, वो अभूतपूर्व है। मोदी ने कहा कि अब सभी के लिए Local खिलौनों के लिये Vocal होने का समय है। आइए, हम अपने युवाओं के लिए कुछ नए प्रकार के, अच्छी Quality वाले, खिलौने बनाते हैं। खिलौना वो हो जिसकी मौजूदगी में बचपन खिले भी, खिलखिलाए भी। हम ऐसे खिलौने बनाएं, जो पर्यावरण के भी अनुकूल हों।

 

 

पीएम नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में कहा –

  • हमारे देश में इतने ideas हैं, इतने concepts हैं, बहुत समृद्ध हमारा इतिहास रहा है। क्या हम उन पर games बना सकते हैं?
  • मैं देश के युवा talent से कहता हूँ, आप, भारत में भी games बनाइये, और, भारत के भी games बनाइये। कहा भी जाता है – Let the games begin ! तो चलो, खेल शुरू करते हैं ! “

 

 

  • “जब आज से सौ वर्ष पहले, असहयोग आंदोलन शुरू हुआ, तो गांधी जी ने लिखा था कि – “असहयोग आन्दोलन, देशवासियों में आत्मसम्मान और अपनी शक्ति का बोध कराने का एक प्रयास है।”
  • “मेरे प्यारे देशवासियो, भारतीयों के innovation और solution देने की क्षमता का लोहा हर कोई मानता है और जब समर्पण भाव हो, संवेदना हो तो ये शक्ति असीम बन जाती है।
  • आत्मनिर्भर app innovation challenge के results देखकर आप ज़रूर प्रभावित होंगे । काफी जाँच-परख के बाद, अलग-अलग category में, लगभग दो दर्जन Apps को award भी दिए गये हैं
  • एक app है Ask सरकार । एक और app है, step set go. ये fitness App है। आप कितना चले, कितनी calories burn की, ये सारा हिसाब ये app रखता है, और आपको fit रहने के लिये motivate भी करता है।”

 

 

  • इसमें chat boat के जरिए आप interact कर सकते हैं और किसी भी सरकारी योजना के बारे में सही जानकारी हासिल कर सकते हैं, वो भी text, audio और video तीनों तरीकों से । ये आपकी बड़ी मदद कर सकता है ।”
  • आप भी आगे आएं, कुछ innovate करें, कुछ implement करें। आपके प्रयास, आज के छोटे-छोटे start-ups, कल बड़ी-बड़ी कंपनियों में बदलेंगे और दुनिया में भारत की पहचान बनेंगे।”
  • हमारे देश में इस बार खरीफ की फसल की बुआई पिछले साल के मुकाबले 7 फीसद ज्यादा हुई है। धान इस बार 10 फीसद, दालें 5 फीसद, मोटे अनाज लगभग 3 फीसद, ऑयलसीड लगभग 13 फीसद, कपास लगभग 3 फीसद बोए गए हैं। इसके लिए मैं देश के किसानों को बधाई देता हूं।

 

 

  • बिहार के पश्चिमी चंपारण में सदियों से थारू आदिवासी समाज के लोग 60 घंटे के लॉकडाउन, उनके शब्दों में ‘60 घंटे के बरना’ का पालन करते हैं। प्रकृति की रक्षा के लिए बरना को थारू समाज के लोगों ने अपनी परंपरा का हिस्सा बना लिया है और ये सदियों से है।
  • हम बहुत बारीकी से अगर देखेंगे, तो एक बात अवश्य हमारे सामने आएगी- हमारे पर्व और पर्यावरण। इन दोनों के बीच एक बहुत गहरा नाता है। जहां एक ओर हमारे पर्वो में पर्यावरण और प्रकृति के साथ सहजीवन का संदेश छिपा होता है तो दूसरी ओर कई सारे पर्व प्रकॉति की रक्षा के लिए ही मनाए जाते हैं।

 

 

  • आम तौर पर ये समय उत्सव का है। जगह-जगह मेले लगते हैं, धार्मिक पूजा-पाठ होते हैं। कोरोना के इस संकट काल में लोगों में उमंग और उत्साह तो है ही, मन को छू लेने वाला अनुशासन भी है। एक रूप में देखा जाए तो नागरिकों में दायित्व का एहसास भी है। लोग अपना और दूसरों का ध्यान रखते हुए रोजमर्रा के काम कर रहे हैं।

हिमाचल और देश-दुनिया के ताजा अपडेट के लिए join करें हिमाचल अभी अभी का Whats App Group

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App


विशेष \ लाइफ मंत्रा


Himachal Abhi Abhi E-Paper



सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है