Covid-19 Update

1,54,664
मामले (हिमाचल)
1,15,610
मरीज ठीक हुए
2219
मौत
24,372,907
मामले (भारत)
162,538,008
मामले (दुनिया)
×

#PM_Modi ने गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब पहुंच कर गुरु तेग बहादुर को दी श्रद्धांजलि

दिल्ली पुलिस के बड़े अधिकारी भी मौके पर रहे मौजूद

#PM_Modi ने गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब पहुंच कर गुरु तेग बहादुर को दी  श्रद्धांजलि

- Advertisement -

नई दिल्ली। कृषि कानून के खिलाफ किसान आंदोलन के बीच पीएम नरेंद्र मोदी ( PM Narendra Modi) अचानक आज सुबह राजधानी में गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब ( Gurudwara Rakaab Ganja sahib) पहुंचे और उन्होंने यहां पर गुरु तेग बहादुर को श्रद्धांजलि दी। आज गुरु तेग बहादुर का शहीदी दिवस है। इससे पहले पीएम मोदी ने गुरु तेग बहादुर के शहीदी दिवस पर पंजाबी में ट्वीट भी किया। ‘श्री गुरु तेग बहादुर जी का जीवन साहस और करुणा का प्रतीक है। महान श्री गुरु तेग बहादुर के शहीदी दिवस पर मैं उन्हें नमन करता हूं और समावेशी समाज के उनके विचारों को याद करता हूं।’


सुबह जैसे ही गुरुद्वारे में पीएम मोदी की आने की सूचना मिली सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी गई। दिल्ली पुलिस के बड़े अधिकारी भी मौके पर मौजूद रहे। बता दें कि सिख समुदाय के लोग आज शहीद दिवस मना रहे हैं। लोग गुरु तेग बहादुर जी को याद कर रहे हैं।

पंजाबी समुदाय आज गुरु तेग बहादुर जी का शहीदी दिवस मना रहा है। 10 सिख गुरुओं में से नौवें गुरु गुरु तेग बहादुर का जन्म 1621 में हुआ था वे दसवें गुरु गोविंद सिंह के पिता भी थे। सिखों के गुरु के तौर पर उनका कार्यकाल 1665 से 1675 तक रहा। उन्होंने धर्म का प्रचार करने के लिए पूरे उत्तर और पूर्वी भारत का भ्रमण किया। उन्होंने मुगल साम्राज्य के अन्याय के खिलाफ आवाज बुलंद की थी।

सन् 1675 में धर्म की रक्षा के लिए गुरु तेगबहादुर ने अपना बलिदान दिया था। मुगल बादशाह औरंगजेब ने गुरु तेग बहादुर जी को मौत की सजा सुनाई थी मुगल बादशाह के आदेश पर सबके सामने गुरु जी का सिर कलम कर दिया गया था।

दिल्ली में स्थित है उनका शहीद स्थल
दिल्ली स्थित गुरुद्वारा शीश गंज साहिब और गुरुद्वारा रकाब गंज साहिब उनके सर्वोच्च बलिदान का प्रतीक स्थल हैं।

हिमाचल अभी अभी Mobile App का नया वर्जन अपडेट करने के लिए इस link पर Click करें …

- Advertisement -

Facebook Join us on Facebook Twitter Join us on Twitter Instagram Join us on Instagram Youtube Join us on Youtube

हिमाचल अभी अभी बुलेटिन

Download Himachal Abhi Abhi App Himachal Abhi Abhi IOS App Himachal Abhi Abhi Android App

टेक्नोलॉजी / गैजेट्स / ऑटो

Himachal Abhi Abhi E-Paper


विशेष




सब्सक्राइब करें Himachal Abhi Abhi अलर्ट
Logo - Himachal Abhi Abhi

पाएं दिनभर की बड़ी ख़बरें अपने डेस्कटॉप पर

अभी नहीं ठीक है